content-cover-image

Britain: शाही परिवार के Prince Andrew सार्वजनिक ज़िम्‍मेदारी से हटे

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

Britain: शाही परिवार के Prince Andrew सार्वजनिक ज़िम्‍मेदारी से हटे

ब्रिटेन की महारानी ने शाही परिवार के सदस्य प्रिंस एंड्रयू को सार्वजनिक दायित्वों से पीछे हटने की इजाजत दे दी है. दरअसल, यौन उत्पीड़ने के दोषी जेफरी एपस्टीन के साथ दोस्ती की बात सामने आने के बाद प्रिंस एंड्रयू को आलोचनाओं का सामना करना पड़ रहा है. एपस्टीन के साथ अपनी दोस्ती को लेकर BBC को इंटरव्यू देने के बाद उन पर काफी दबाव बढ़ गया था. एपस्टीन के मामले में अमेरिकी जांच को लेकर ड्यूक ऑफ यॉर्क ने कहा कि अगर जांच में जरूरत पड़ती है, तो वे किसी भी कानून एजेंसी को मदद करने को तैयार हैं. प्रिंस एंड्रयू के खिलाफ मामले ने तब और तूल पकड़ लिया, जब एक महिला ने आरोप लगाया था कि एपस्टीन ट्रैफिकिंग कर उसे लंदन ले गया था और प्रिंस एंड्रयू के साथ जबरन यौन संबंध बनाने पर मजबूर किया. बकिंघम पैलेस ने इन दायित्वों को छोड़ने का निर्णय प्रिंस एंड्रयू का व्यक्तिगत फैसला बताया. एंड्रयू ने यह भी कहा, "मैं जेफरी एपस्टीन के साथ अपने रिश्तों पर अफसोस करता हूं." बात दें कि जेफरी एपस्टीन फाइनेंशियल सेक्टर में आने से पहले एक टीचर हुआ करता था. आपराधिक मामलों से पहले उसे रईस और हाई प्रोफाइल कनेक्शन वाले शख्स के तौर पर जाना जाता था. ब्रिटेन के प्रिंस एंड्रयू ही नहीं, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और बिल क्लिंटन, इजरायल के पूर्व प्रधानमंत्री एहुद बराक जैसी हस्तियों से भी उसकी दोस्ती थी. 17 अगस्त को जेफरी एपस्टीन ने अमेरिका की एक जेल में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी. उस पर आरोप था कि साल 2002 से लेकर 2005 के बीच उसने अपने मैनहट्टन और फ्लोरिडा स्थित घरों पर 18 साल से कम उम्र की बच्चियों को सेक्स से जुड़े धंधे के धकेला. एपस्टीन को अगर लड़कियों की ट्रैफिकिंग के मामले में दोषी पाया जाता, तो उसे 45 साल तक कैद की सजा हो सकती थी.

Show more
content-cover-image
Britain: शाही परिवार के Prince Andrew सार्वजनिक ज़िम्‍मेदारी से हटेमुख्य खबरें