content-cover-image

JNU छात्र बोले 'अरबों डॉलर से अमेरिकी तोप ना खरीदे सरकार, करे छात्रों का निर्माण'

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

JNU छात्र बोले 'अरबों डॉलर से अमेरिकी तोप ना खरीदे सरकार, करे छात्रों का निर्माण'

जेएनयू में हुई फीस वृद्धि ने आज छात्र नेताओं के बीच वैचारिक दूरीयां खत्म कर दीं। वाम विचारधारा के साथ-साथ दक्षिणपंथी पार्टियों के छात्र गुरुवार को साथ मिलकर सड़कों पर उतरे और जेएनयू प्रशासन से फीस वृद्धि को वापस लेने की अपील की। छात्रों ने अलग-अलग संस्थाओं में लगातार हो रही फीस वृद्धि को देश के भविष्य के साथ खिलवाड़ बताया और मांग की कि सरकार उच्च शिक्षा में अपना योगदान बढ़ाए। छात्रों का कहना था कि गुरुवार की ही सुबह अखबारों में पढ़ने को मिला कि सरकार एक अरब डॉलर से ज्यादा की लागत से अमेरिका से तोप खरीदने की तैयारी कर रही है। सरकार को चाहिए कि वह यह पैसा देश के छात्रों की पढ़ाई में लगाए। वे ऐसे तोप स्वयं बना लेंगे। छात्रों ने दिल्ली के मंडी हाउस पर एकत्र होकर सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और सरकार से फीस वृ्द्धि को वापस लेने की मांग की। छात्रों का मार्च बाराखंभा रोड से होते हुए जंतर-मंतर और मानव संसाधन मंत्रालय तक पहुंचा। इस प्रदर्शन में सभी दलों के छात्र शामिल हुए। इतना ही नहीं, जेएनयू में हुई फीस वृद्धि के मामले पर दिल्ली विश्वविद्यालय के छात्र भी आज सड़कों पर उतर आए। उन्होंने सरकार के फैसले को देशहित के खिलाफ बताया।

Show more
content-cover-image
JNU छात्र बोले 'अरबों डॉलर से अमेरिकी तोप ना खरीदे सरकार, करे छात्रों का निर्माण' मुख्य खबरें