content-cover-image

सुस्ती के दौर में वित्त मंत्री की बैंकों को हिदायत

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

सुस्ती के दौर में वित्त मंत्री की बैंकों को हिदायत

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने चेन्नै में एक कार्यक्रम में बैंकों को एक नसीहत दी और कहा कि उन्हें कारोबार का विस्तार करने से पहले अपनी ताकत और कमजोरी का बेहतर आकलन करना चाहिए। अगर बैंकों को यह अंदाजा हो जाए कि वे कितने मजबूत हैं और उस हिसाब से अपना धीरे-धीरे विस्तार करेंगे तो विकास निश्चित है। वह तमिलनाडु में स्थापित सिटी यूनियन बैंक के 116वें स्थापना दिवस समारोह को संबोधित कर रही थीं। सीतारमण ने कहा कि बैंकों के बीच एक होड़ सी मची हुई है कि उन्हें अपने कारोबार का तेजी से विस्तार करना है और पूरे देश में शाखा खोलनी है। इस होड़ के कारण क्षमता से अधिक अपना विस्तार कर लेना बैंकों के लिए हानिकारक हो रहा है। पिछले कुछ सालों में बैंकिंग सेक्टर में कुछ ऐसी घटनाएं हुई हैं, जिसके कारण बैंकों को आर्थिक नुकसान के साथ-साथ छवि का भी नुकसान हुआ है। याद दिल दें कि बैंकों को मजबूत करने के लिए अगस्त के महीने में सरकार ने देश के 10 सरकारी बैंकों का विलय कर दिया था। 6 छोटे-छोटे बैंकों को 4 बड़े बैंकों में विलय कर दिया गया था। इससे बैंकों का आकार बढ़ गया और लोन बांट पाने की क्षमता भी बढ़ी। बैंक का आकार जितना बड़ा होगा, वह उतना ज्यादा रिस्क भी ले सकता है और कम ब्रांच होने से ऑपरेशनल कॉस्ट भी कम होता है।

Show more
content-cover-image
सुस्ती के दौर में वित्त मंत्री की बैंकों को हिदायतमुख्य खबरें