content-cover-image

Don't Mind Please with Funkar!!! Ep 63- 25th Nov '2019

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

Don't Mind Please with Funkar!!! Ep 63- 25th Nov '2019

प्यार मोहब्बत में धोखा और सरकार बनाने का मौका किसी को भी मिल सकता है...और इस बात का जीता जागता और चीखता सबूत है महाराष्ट्र का गरमा गरम मुद्दा जिसने राजनीति के माहौल से लेकर उद्दव ठाकरे, शरद पवार और संजय राउत तक के दिमाग को गरम कर दिया है...समय कितनी जल्दी बदल जाता है...पहले रात में सिर्फ शादियां और पार्टियां होती थी और अब सरकारें बनना भी शुरू हो गयी है..बहुत दिनों तक कहानी कथा चलने के बाद धुआंधार तरीके से बीजेपी और एनसीपी ने मिलकर महाराष्ट्र में सरकार बना लिया है..बीजेपी की तरफ से एक बार फिर देवेंद्र फडणवीस मुख्यमंत्री बने तो एनसीपी के अजित पवार उप मुख्यमंत्री बने है...इस पूरे मामले के बाद एक गाना गाने का बहुत मन कर रहा हमारा कि भँवरे ने खिलाया फूल..फूल को ले गए गठबंधन वाले...कुछ लोग कह रहे है कि इस साल का सबसे पड़ा सरप्राइज गिफ्ट उध्दव ठाकरे को मिला है तो एक भईया हमसे कहने लगे की शरद पवार अपना पवार लेके मीटिंग करते रह गए और भतीजा पावर लेके निकल गया...एक चाचा कहने लगे कि इस तरह के काण्ड के बाद अब हमे पता चला कि काहे सब लोग कहते फिरते है मोदी है तो मुमकिन है..अब वैसे भी जितने तरह के लोग उतनी तरह की बातें...कुछ लोग उद्धव ठाकरे को लेकर कह रहे है कि मुख्यमंत्री न सही मूर्ख मंत्री ही कुछ तो बने है..वहीँ इन दिनों अमित शाह का भौकाल भी बहुत कायदे से बना हुआ है जिस तरह से वो सुमडी में गुमड़ी करते है उसे देख कर लोगों का कहना है की वो पार्टी के साथ अपना बिज़नेस भी चला रहे है कि देश विदेश में कहीं भी सरकार बनानी हो तो उनसे सम्पर्क करें....हम तो कह रहे है की ताश के पत्ते में भी अब तुरुप का पत्ता हटा के शाह के नाम का पत्ता दाल देना चाहिए क्यूंकि इनके पास भी हर तरह की काट रहती है..समस्या का हल कर्मों का फल एक न एक दिन मिल ही जाता है...अब जो शरद पवार आज इतना तमतमा रहे है वो खुदे भूल गए की 41 साल पहले कांग्रेस को एक बढ़िया सा धोका देकर cm बने थे पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने फिर से शब्दों का बाड़ छोड़ा है और जब उनसे नहीं हुआ कुछ तो पिछली सरकार पर उसका ठीकरा फोड़ा है...अब हुआ ये कि पकिस्तान के pm इमरान खान ने कुछ बातें ऐसी कह दी जिसके बाद लोगों का कहना है की उनकी इन बातों का वास्तविकता से संबंध नहीं है...उन्होंने कहा की पकिस्तान में जो महंगाई के ताज़ा हालात है वो पिछली सरकार के गलत आर्थिक नीतियों की वजह से है. भईया आर्थिक नीतियां वहाँ बनती है जहाँ अर्थव्यवस्था होती है...जहाँ फज़लुर रेहमान जैसे लोग दवाई की तरह सुबह दोपहर शाम विरोध करे वहां आर्थिक नीति नहीं धरा 144 जैसे धाराएं बनती है...उन्होंने ये भी कहा कि देश अभी नकदी संकट से जूझ रहा है जोकि जल्दी ही इस समस्या से उबर जायेगा ..अब सबसे पहले तो कोई ये बताओ की इनके पास इतनी नकदी आयी कहाँ से जो संकट वाली हालत हो गयी..इमरान साहब आप इन सब बातों में न पढ़िए बल्कि अपने तख्ते को पकडे रहिये क्यूंकि फज़लुर भईया कभी भी तख्ता पलट सकते है वो बार बार यही कहते है.. दूर के ढोल सबका सुहावने लगते है वो वो ढोल तब और भी ज़्यादा सुहावने हो जाते है जब दूरी इंडिया से अमेरिका तक की हो जाए..अब भाई नरेंद्र मोदी का अमेरिका तो आना जाना लगा ही रहता है लेकिन इस बार मोदी वहां नहीं गए बल्कि वहां से एक खबर आयी है उनके लिए....अमेरिकी सांसद पीट ओल्सन ने नरेंद्र मोदी की तारीफ करते हुए और आर्टिकल 370 पर बात किया और कहा कि मोदी देश में शांति के लिए काम करते है..जिसके बाद एक तरफ उनके विरोधी शांति को ढूंढ़ने में लगे है जिनके लिए मोदी काम कर रहे है वही दूसरी तरफ लोगों ने माना कि आर्टिकल 370 हटाने के पहले महबूबा मुफ़्ती उमर अब्दुल्ला को जिस तरह नज़रबंद किया गया था उससे लगता है कि मोदी जी सच में बहुत शांतिप्रिय है

Show more
content-cover-image
Don't Mind Please with Funkar!!! Ep 63- 25th Nov '2019मुख्य खबरें