content-cover-image

Hyderabad Rape Case: मुंह बंद करने से हुई थी मौत, सबूत मिटाने के लिए जलाया शव

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

Hyderabad Rape Case: मुंह बंद करने से हुई थी मौत, सबूत मिटाने के लिए जलाया शव

सरकारी वेटरनरी डॉक्टर के साथ सामूहिक दुष्कर्म के बाद उसकी हत्या करने वाले आरोपियों ने एक बड़ा खुलासा किया है। पुलिस के मुताबिक, दुष्कर्म के दौरान दिखाई गई हैवानियत में पीड़िता की चीखों को दबाने के लिए एक आरोपी ने उसका मुंह दबा रखा था। इसी कारण सांस घुटने से उसकी मौत हो गई। पुलिस आयुक्त वीसी सज्जनर ने बताया कि सामूहिक दुष्कर्म के दौरान दिखाई जा रही हैवानियत पर महिला डॉक्टर की चीख निकलने से आरोपी घबरा गए थे। इसी दौरान एक आरोपी मोहम्मद आरिफ ने उसका मुंह बंद कर दिया। सांस नहीं ले पाने के कारण डॉक्टर की दम घुटने से मौत हो गई। पुलिस आयुक्त के मुताबिक, हैवानियत की यह घटना बुधवार रात 9.35 से 10 बजे के बीच अंजाम दी गई। पुलिस आयुक्त ने बताया कि सामूहिक दुष्कर्म में महिला डॉक्टर की मौत हो जाने के बाद आरोपियों ने उसका शव एक ट्रक में लाद लिया था। शव को ठिकाने लगाने के लिए ही उन्होंने हाईवे पर एक पेट्रोल पंप से ट्रक में डीजल भरवाने के दौरान थोड़ा पेट्रोल भी एक केन में भरवा लिया था। सबूत नष्ट करने के लिए सुनसान जगह पहुंचकर शव पर पेट्रोल छिड़ककर उसमें आग लगा दी गई थी। पुलिस आयुक्त के मुताबिक, चारों आरोपियों मोहम्मद आरिफ, नवीन, चिंताकुंता केशावुलू और शिवा को लोगों से पूछताछ और आसपास मौजूद सीसीटीवी की मदद से दबोचा गया।

Show more
content-cover-image
Hyderabad Rape Case: मुंह बंद करने से हुई थी मौत, सबूत मिटाने के लिए जलाया शवमुख्य खबरें