content-cover-image

महिलाओं के खिलाफ अपराध बढ़े, फिर भी ‘निर्भया फंड’ की अनदेखी

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

महिलाओं के खिलाफ अपराध बढ़े, फिर भी ‘निर्भया फंड’ की अनदेखी

हैदराबाद में महिला वेटरनरी डॉक्टर के रेप और मर्डर की घटना से इस वक्त देशभर में रोष है. इस बीच सामने आया है कि महिलाओं के खिलाफ अपराधों में बढ़ोतरी के बावजूद ज्यादातर राज्यों ने महिला सुरक्षा पर ढीला रवैया अपनाया हुआ है. केंद्र सरकार की तरफ से महिला सुरक्षा के लिए गठित ‘निर्भया फंड’ के पैसे खर्च करने में सभी राज्य नाकाम रहे हैं और कुछ राज्यों ने तो एक पैसा भी खर्च नहीं किया है. लोकसभा में प्रश्नकाल के दौरान निर्भया कोष के आवंटन के संबंध में सरकार ने जो आंकड़े दिए हैं, उनके मुताबिक आवंटित धनराशि में से 11 राज्यों ने एक पैसा भी खर्च नहीं किया. इन राज्यों में महाराष्ट्र, मणिपुर, मेघालय, सिक्किम, त्रिपुरा के अलावा दमन और दीव शामिल हैं. दिल्ली ने 390.90 करोड़ रुपये में सिर्फ 19.41 करोड़ रुपये खर्च किए. उत्तर प्रदेश ने निर्भया फंड के तहत आवंटित 119 करोड़ रुपये में से सिर्फ 3.93 करोड़ रुपये खर्च किए. कर्नाटक ने 191.72 करोड़ रुपये में से 13.62 करोड़ रुपये, तेलंगाना ने 103 करोड़ रुपये में से केवल 4.19 करोड़ रुपये खर्च किए. आंध्र प्रदेश ने 20.85 करोड़ में से केवल 8.14 करोड़ रुपये, बिहार ने 22.58 करोड़ रुपये में से मात्र 7.02 करोड़ रुपये खर्च किए. बता दें कि दिल्ली में 2012 में हुए जघन्य निर्भया गैंगरेप केस के बाद सरकार ने महिलाओं की सुरक्षा के लिए समर्पित एक विशेष फंड की घोषणा की थी, जिसका नाम 'निर्भया फंड' रखा गया था.

Show more
content-cover-image
महिलाओं के खिलाफ अपराध बढ़े, फिर भी ‘निर्भया फंड’ की अनदेखीमुख्य खबरें