content-cover-image

दिल्ली अग्निकांड के पीड़ितों को 'मुआवज़े का मरहम'

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

दिल्ली अग्निकांड के पीड़ितों को 'मुआवज़े का मरहम'

दिल्ली के रानी झांसी रोड इलाके में अनाज मंडी इलाके में लगी भीषण आग में अबतक 43 लोगों की मौत हो गई है। इस इमारत में चल रही छोटी-छोटी फैक्ट्रियों में काम करने वाले ज्यादातर मजदूर बिहार और उत्तर प्रदेश के थे। यहां कोई पैकेजिंग का काम करता था तो कोई स्कूली बैग बनाता था। काम करने के बाद मजदूर यहीं पर सो जाते थे। शनिवार को भी वह दिनभर काम की थकान के बाद सो गए थे जिसमें से कई लोग दूसरे दिन की सुबह नहीं देख पाए। प्रशासन फिलहाल मृतकों की पहचान करने में जुटा हुआ है। इमारत के अंदर लगी आग के कारण अपनी जान गंवाने वाले ज्यादातर मजदूर बिहार के दरभंगा, मधुबनी, समस्तीपुर और मुजफ्फरपुर के रहने वाले थे। हालांकि मृतकों को लेकर ज्यादा जानकारी उपलब्ध नहीं है। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अवैध फैक्ट्री में लगी आग के पीड़ित परिजनों को दो लाख रुपये मुआवजा देने का एलान किया है। यह राशि उन मजदूरों को दी जाएगी जो बिहार से ताल्लुक रखते हैं। साथ ही घटना में मरने वालों और घायलों को प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष से मुआवजा राशि देने का एलान किया गया है। मृतकों के परिजनों को दो लाख रुपए और गंभीर रूप से घायलों को 50 हजार रुपए की मुआवजा राशि दी जाएगी। उधर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी घटनास्थल का दौरा किया। मुख्यमंत्री ने मृतकों के परिवारों के लिए 10 लाख रुपये मुआवजा देने की घोषणा की। केजरीवाल ने इस घटना में झुलसे लोगों के लिए एक लाख रुपये मुआवजा राशि की घोषणा की है। केजरीवाल ने संवाददाताओं से कहा कि सरकार दोषी को नहीं छोड़ेगी और उन्हें कड़ी सजा मिलेगी।

Show more

content-cover-image
दिल्ली अग्निकांड के पीड़ितों को 'मुआवज़े का मरहम'मुख्य खबरें