content-cover-image

नागरिकता विधेयक के विरोध में सुलगा पूर्वोत्तर, Assam में यातायात रद्द, इंटरनेट बंद

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

नागरिकता विधेयक के विरोध में सुलगा पूर्वोत्तर, Assam में यातायात रद्द, इंटरनेट बंद

नागरिकता संशोधन बिल-2019 के खिलाफ असम और त्रिपुरा में प्रदर्शनों का सिलसिला जारी है। कई जगहों पर प्रदर्शन ने हिंसक रूप ले लिया। बुधवार देर रात असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल के डिब्रूगढ़ स्थित आवास और केंद्रीय राज्यमंत्री रामेश्वर तेली के दुलियाजन स्थित आवास पर प्रदर्शनकारियों ने पथराव और हमला कर दिया। गुवाहाटी के होटल ताज में जापानी पीएम शिंजो आबे के स्वागत में बनाया गया रैंप भी जला दिया गया। असम के कई जिलों में इस समय कर्फ्यू लगा हुआ है। नागरिकता विधेयक को लेकर जारी प्रदर्शन ने पूरे असम को अपने कब्जे में ले लिया है जिसके चलते गुवाहाटी यूनिवर्सिटी और कॉटन यूनिवर्सिटी प्रशासन ने स्नातक और परास्नातक की इस हफ्ते होने वाली परीक्षा को फिलहाल के लिए रद्द करने का फैसला लिया है। सरकार की सलाह के अनुसार असम में जारी अशांति के कारण फ्लाइट यूके725 और यूके726 को आज के लिए रद्द कर दिया गया है। असम के मुख्यमंत्री के डिब्रूगढ़ में लखीनगर स्थित आवास पर बुधवार रात प्रदर्शनकारियों ने पथराव किया। डिप्टी कमिश्नर पल्लव गोपाल झा ने बताया, पथराव में कुछ खिड़कियों को नुकसान पहुंचा है। वहीं, डिब्रूगढ़ में ही भाजपा विधायक प्रशंता फुकान सहित एक अन्य भाजपा नेता के घर को भी नुकसान पहुंचाया गया है। असम के दस जिलों में मोबाइल इंटरनेट सेवा बृहस्पतिवार शाम सात बजे तक बंद कर दी गई। साथ ही 31 ट्रेनें या तो रद्द करनी पड़ीं या उनका रूट घटा दिया गया। तिनसुखिया, जोरहाट और डिब्रूगढ़ में भी कर्फ्यू लगा दिया गया है। त्रिपुरा में दूसरे दिन भी इंटरनेट सेवाएं बंद रहीं। नागरिकता संशोधन विधेयक को लेकर पूर्वोत्तर के राज्यों में विरोध बढ़ता ही जा रहा है। कई स्थानों पर आगजनी की घटनाएं हो रही हैं। तीसरे दिन भी हिंसक विरोध प्रदर्शन जारी है। जिसके कारण डिब्रूगढ़ और गुवाहाटी में कर्फ्यू लगा हुआ है। राज्य में सीआरपीएफ की दस कंपनियां तैनात की गई हैं।

Show more
content-cover-image
नागरिकता विधेयक के विरोध में सुलगा पूर्वोत्तर, Assam में यातायात रद्द, इंटरनेट बंदमुख्य खबरें