content-cover-image

कोर्ट में पेश नहीं होने पर Shashi Tharoor ने दी सफाई

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

कोर्ट में पेश नहीं होने पर Shashi Tharoor ने दी सफाई

कांग्रेस सांसद शशि थरूर के खिलाफ शनिवार को त्रिवेंद्रम कोर्ट ने गिरफ्तारी वारंट जारी किया था। इसके बाद शशि थरूर ने रविवार को कहा कि वह एक वकील के जरिए गिरफ्तारी वारंट जारी होने की खबर के बारे में स्पष्टीकरण के लिए अदालत का दरवाजा खटखटाएंगे। शशि थरूर पर 1989 में लिखी किताब 'द ग्रेट इंडियन नॉवेल' में हिंदू महिलाओं को कथित रूप से बदनाम करने का आरोप है। उसी आरोप में उनकी गिरफ्तारी के लिए कोर्ट ने वारंट जारी किया है। शिकायतकर्ता अधिवक्ता संध्या ने बताया कि सांसद थरूर जब मानहानि के मामले में अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट के सामने पेश नहीं हुए तो उनके खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया गया। संध्या ने कहा, ‘मैंने अप्रैल में भारतीय दंड संहिता की धारा 499 के तहत मामला दायर किया था। अदालत ने उन्हें सम्मन जारी कर 21 दिसंबर को पेश होने के लिए कहा था। लेकिन वह पेश नहीं हुए। थरूर ने रविवार को अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर कहा कि वह न्यायपालिका का काफी सम्मान करते हैं और उनका अदालत की अवमानना का कोई इरादा नहीं था। उन्होंने प्राप्त सम्मन की तस्वीर भी पोस्ट की जिसमें अदालत में उनके पेश होने की तिथि का उल्लेख नहीं था। थरूर ने कहा, कई लोगों ने भाजपा महिला मोर्चा की एक वकील द्वारा मेरी 30 वर्ष पुरानी पुस्तक ‘ग्रेट इंडियन नॉवेल’ में एक पंक्ति के बारे में दायर मामले के पर मीडिया में आयी खबरों को लेकर सवाल किए हैं।

Show more
content-cover-image
कोर्ट में पेश नहीं होने पर Shashi Tharoor ने दी सफाई मुख्य खबरें