content-cover-image

UP: इंटरनेट बंद होने से प्रभावित हुआ करोड़ों का कारोबार

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

UP: इंटरनेट बंद होने से प्रभावित हुआ करोड़ों का कारोबार

उत्तर प्रदेश के कई जिलों में नागरिकता कानूनऔर एनआरसी के विरोध प्रदर्शन के चलते इंटरनेट पर लगी रोक से बैंकिंग सेवाओं पर सबसे ज्यादा प्रभाव पड़ा है। इससे कई शहरों और कस्बों में नगदी की कमी के चलते बैंकों को अपनी शाखाएं भी बंद रखनी पड़ी। नेट के बंद होने से व्यापारियों को भी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। इससे उन लोगों पर खासा असर पड़ा, जिनका कारोबार पूरी तरह से इंटरनेट के द्वारा चलता है। जिन जिलों में प्रशासन ने इंटरनेट को बंद करने का आदेश दिया है, उनमें कई ऐसे शहर हैं जो कि कारोबारी लिहाज से काफी महत्वपूर्ण हैं। सर्वाधिक असर लखनऊ, कानपुर, वाराणसी, मेरठ, बहराइच, आगरा, फिरोजाबाद, अलीगढ़, गाजियाबाद और गोरखपुर में देखने को मिला। कई बैंकों ने प्रभावित जिलों में नगदी भेजना बंद कर दिया, जिसके चलते बैंक शाखाओं को भी बंद करना पड़ा। कैश न होने से कई एटीएम भी खाली हो गए। हालांकि कई बैंकों के एटीएम वीसैट प्रणाली पर काम करते हैं, लेकिन कैश न होने से इनको भी बंद करना पड़ा। इंटरनेट के ठप होने से डिजिटल बैंकिंग ट्रांजेक्शन, ओटीपी सेवाएं, ई-केवाईसी, यूपीआई, आधार के जरिए पेमेंट सिस्टम जैसी बैंकिंग सेवाएं सबसे ज्यादा प्रभावित हुई हैं। हालांकि अभी यह नहीं पता चला है कि नेट बंद होने से कुल कितने करोड़ रुपये के कारोबार पर असर पड़ा। आधार के जरिए पेमेंट सिस्टम का इस्तेमाल किराना स्टोर्स, ग्रोसरी, दवा की दुकानों और बैंकों के बिजनेस कॉरेस्पॉन्डेंट द्वारा किया जाता है। राज्य में इस प्लेटफॉर्म का सर्वाधिक इस्तेमाल किया जाता है। वहीं पेमेंट बैंकों को भी इसकी मार झेलनी पड़ी, क्योंकि बिना इंटरनेट के उनका कारोबार हो नहीं सकता है।

Show more
content-cover-image
UP: इंटरनेट बंद होने से प्रभावित हुआ करोड़ों का कारोबारमुख्य खबरें