content-cover-image

‘गुस्सा रहित क्षेत्र’ बनेंगे CBSE Schools, जारी हुई Advisory

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

‘गुस्सा रहित क्षेत्र’ बनेंगे CBSE Schools, जारी हुई Advisory

सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन ने बच्चों में सकारात्मक बदलाव लाने के इरादे से अपने तहत आने वाले सभी स्कूलों को एंगर फ्री जोन यानि गुस्सा रहित क्षेत्र बनने को कहा है. इस पहल के तहत टीचर, स्टाफ और बच्चों के माता-पिता अपने गुस्से को काबू में रखने की कोशिश करेंगे. बोर्ड के सेक्रेटरी अनुराग त्रिपाठी ने CBSE से जुड़े स्कूलों को जारी एक एडवाइजरी में कहा है कि इस पहल से छात्रों को गुस्से से छुटकारे की सीख मिलेगी. एडवाइजरी में कहा गया है, ''यह पहल cbse छात्रों को प्रभावी कौशल विकसित करने और गुस्सा, असम्मान, अपमान और दुख पहुंचाने जैसी भावनाओं से छुटकारा दिलाने में मदद करेगी. इस बदलाव से बच्चों को मानसिक तौर पर ज्यादा सक्रिय और भावनात्मक रूप से मजबूत होने में सहायक होगी.'' CBSE ने हेल्थ और फिजिकल एजुकेशन के लिए हर दिन एक पीरियड रिजर्व करने का भी आदेश दिया है. इसके साथ ही स्कूलों से कहा गया है कि वो गुस्सा रहित क्षेत्र बनने की अपनी पहल को लेकर सोशल मीडिया पर #cbsenoanger का इस्तेमाल करें, वहां अपने अनुभव और सुधार को साझा करें.

Show more

content-cover-image
‘गुस्सा रहित क्षेत्र’ बनेंगे CBSE Schools, जारी हुई Advisoryमुख्य खबरें