content-cover-image

CAA प्रदर्शन के चलते Hyderabad बाज़ार से 'गायब' हुआ तिरंगा

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

CAA प्रदर्शन के चलते Hyderabad बाज़ार से 'गायब' हुआ तिरंगा

तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद में नागरिकता संशोधन कानून को लेकर चल रहे विरोध प्रदर्शनों में इसके समर्थक और विरोधी दोनों ही अपनी रैलियों में तिरंगा लेकर चल रहे हैं जिससे 26 जनवरी से ठीक पहले झंडे की कमी हो गई है। तिरंगे की सप्‍लाई करने वाले लोगों का कहना है कि पहली बार गणतंत्र दिवस पर झंडे की कमी हुई है। मांग को देखते हुए दुकानदारों ने तिरंगे की कीमत दोगुनी कर दी है। इससे पहले 4 जनवरी को हजारों लोग हैदराबाद की सड़कों पर आ गए थे जिससे राष्‍ट्रीय झंडे का स्‍टॉक और भी कम हो गया। फुटकर विक्रेताओं ने रैली के लिए करीब 3.5 लाख तिरंगा बेचा। बताया जा रहा है कि पिछले 6 दशक में पहली बार शहर में इतने लोग शांतिपूर्वक तरीके से इकट्ठा हुए थे। तिरंगा बेचने वाले दुकानदारों ने निर्माताओं से और झंडा मंगाया है। उधर, निर्माता इस डिमांड को पूरा करने के लिए ओवरटाइम कर रहे हैं। हैदराबाद में तिरंगे की आपूर्ति करने वाले लोगों का मानना है कि अगले दो दिनों में मांग में और ज्‍यादा तेजी आ सकती है क्‍योंकि 10 जनवरी को असदुद्दीन ओवैसी की मीर आलम ईदगाह से शास्‍त्रीपुरम तक विशाल रैली है। ओवैसी ने ऐलान किया है कि वह चारमीनार पर तिरंगा लहराएंगे और उन्‍होंने 10 गुणे 30 फुट लंबा तिरंगा बनाने का ऑर्डर दिया है। मांग को देखते हुए 15 रुपये के झंडे का दाम 30 और 30 रुपये के झंडे को 50 रुपये में बेचा जा रहा है। झंडे की दुकान चलाने वाले एम चंदा नाम के व्यक्ति बताते हैं कि CAA विरोध प्रदर्शन शुरू होने के बाद तेलंगाना और आंध्र प्रदेश में 10 लाख झंडे बेचे जा चुके हैं।

Show more

content-cover-image
CAA प्रदर्शन के चलते Hyderabad बाज़ार से 'गायब' हुआ तिरंगामुख्य खबरें