content-cover-image

JNU: पुलिस के हाथ सुराग, जल्द हो सकता है बड़ा खुलासा

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

JNU: पुलिस के हाथ सुराग, जल्द हो सकता है बड़ा खुलासा

जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी में हुई हिंसा के मामले में दिल्ली पुलिस जल्द ही खुलासा कर सकती है। माना जा रहा है कि क्राइम ब्रांच को तीन संदिग्धों के बारे में जानकारी मिली है, जिनमें एक महिला भी शामिल है। इन तीनों पर अपने चेहरे ढककर छात्रों पर डंडों से हमला करने का आरोप है। हालांकि पुलिस ने अब तक पूरे मामले को लेकर अपनी चुप्पी नहीं तोड़ी है, लेकिन सूत्रों का कहना है कि मोबाइल लोकेशन के जरिए इनकी पहचान की गई है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक घटना के वक्त इलाके में ऐक्टिव रहे मोबाइल फोन्स और कॉल डिटेल्स रिकॉर्ड एनालिसिस की मदद से संदिग्धों की जानकारी जुटाई गई है। यही नहीं दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच की टीम जेएनयू के उन भीतरी तत्वों को लेकर भी जानकारी जुटा रही है, जिन्होंने हमलावरों को साथ दिया और उन्हें गाइड किया। मास्क पहने संदिग्धों की ड्रेस और उनकी बॉडी लैंग्वेज से पता चलता है कि वे शायद कॉलेज स्टूडेंट्स ही हैं और उनकी उम्र भी 30 से कम है। पुलिस फिलहाल सीसीटीवी फुटेज, तस्वीरें और मोबाइल विडियोज हासिल करने में जुटी है। पुलिस ऐसे लोगों की पड़ताल कर रही है, जिन्होंने हमलावर जैसे ही कपड़े पहने हों और उनके चेहरे ढके न हों। इसके अलावा पुलिस ने अपनी तैयारी को पुख्ता करते हुए विडियोज को फॉरेंसिक लैब्स को भेजने की भी बात कही है। सूत्रों का कहना है कि चूंकि मामला स्टूडेंट्स से संबंधित है। ऐसे में कोशिश यही की जाएगी कि किसी एक पक्ष की गिरफ्तारी ना की जाए। जांच को दोनों ओर से बैलेंस बनाते हुए आगे बढ़ाया जाएगा। ताकि कोई भी एक पक्ष पुलिस पर पक्षपात का आरोप ना लगा सके। यह भी बताया गया है कि फिलहाल क्राइम ब्रांच जेएनयू स्टूडेंट्स की गिरफ्तारी से बचेगी। भले ही उनके नाम एफआईआर में दर्ज क्यों ना हों। नकाबपोश को पकड़ने की जरूर कोशिश की जा रही है।

Show more
content-cover-image
JNU: पुलिस के हाथ सुराग, जल्द हो सकता है बड़ा खुलासामुख्य खबरें