content-cover-image

घाटी में विदेशी दूत, पाकिस्तान दुष्प्रचार की खुली पोल

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

घाटी में विदेशी दूत, पाकिस्तान दुष्प्रचार की खुली पोल

जम्मू-कश्मीर में 5 अगस्त के बाद हालात तेजी से सामान्य हुए हैं। 15 देशों के राजनयिकों का एक दल वहां के हालात का जायजा लेने के लिए गुरुवार से 2 दिन के दौरे पर है। पहले दिन विदेशी राजनयिकों ने सिविल सोसाइटी, स्थानीय मीडिया और नेताओं से मुलाकात की। इस दौरान स्थानीय लोगों ने जम्मू-कश्मीर में रक्तपात के पाकिस्तानी दुष्प्रचार को सिरे से खारिज किया। विदेशी राजनयिकों से बातचीत में स्थानीय लोगों ने 5 अगस्त के बाद बिना किसी खूनखराबे के हालात को संभालने के लिए सरकार की खुलकर तारीफ की। विदेशी राजनयिकों का दौरा शुक्रवार को भी जारी रहेगा। इस दौरान स्थानीय लोगों ने इतना जरूर माना कि कुछ दिक्कतें हैं लेकिन व्यवस्था बनाए रखने के लिए यह जरूरी है। स्थानीय लोगों ने विदेशी राजनयिकों से साफ कहा कि जम्मू-कश्मीर के लोग पाकिस्तान को एक इंच जमीन भी नहीं देंगे। स्थानीय लोगों ने पाकिस्तान पर जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद फैलाने और लोगों की जान लेने का आरोप लगाया। राजनयिकों से गुजारिश की कि वे पाकिस्तान पर दबाव बनाएं ताकि वह जम्मू-कश्मीर में दखल न दे। विदेशी राजनयिक आज पाकिस्तानी दुष्प्रचार के उलट घाटी में सामान्य हालात के गवाह बने। श्रीनगर में दुकानें खुली हुई थीं, सड़कों पर गाड़ियां सामान्य रूप से आ-जा रही थीं और बाजार लोगों से गुलजार थे। जानकारी के लिए बात दें कि जिन 15 देशों के राजदूत/उच्चायुक्त जम्मू-कश्मीर के 2 दिवसीय दौरे पर हैं, वे हैं- अमेरिका, दक्षिण कोरिया, वियतनाम, बांग्लादेश, मालदीव, मोरक्को, फिजी, नॉर्वे, फिलिपिंस, अर्जेंटिना, पेरू, नाइजर, नाइजीरिया, टोगो और गयाना।

Show more
content-cover-image
घाटी में विदेशी दूत, पाकिस्तान दुष्प्रचार की खुली पोलमुख्य खबरें