content-cover-image

Delhi जीतने के लिए BJP को सिर्फ Modi-Shah पर भरोसा

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

Delhi जीतने के लिए BJP को सिर्फ Modi-Shah पर भरोसा

महाराष्ट्र, हरियाणा और झारखंड में राज्य भाजपा नेताओं की विफलता के बाद दिल्ली विधानसभा चुनावों में भाजपा के केंद्रीय नेताओं को दिल्ली भाजपा में ऐसा कोई नेता नहीं दिखता जो मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को सीधी टक्कर दे सके। इसलिए भाजपा ने जीत की अपनी उम्मीद सिर्फ और सिर्फ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता और गृह मंत्री अमित शाह की रणनीति पर टिका दी है। भाजपा के केंद्रीय नेताओं का मानना है कि जिस तरह दिल्ली में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पिछले पांच साल में अपनी जड़ें जमाई हैं उससे उनके सामने अब किसी नेता को मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार के रूप में पेश करना सही रणनीति नहीं होगी। क्योंकि पार्टी के पास दिल्ली में ऐसा कोई कद्दावर चेहरा नहीं है जो आमने-सामने के मुकाबले में केजरीवाल को टक्कर दे सके। इसलिए अब किसी को सीएम पद का उम्मीदवार बनाए बिना प्रधानमंत्री मोदी के नाम पर ही चुनाव लड़ना ज्यादा बेहतर रणनीति होगी। पार्टी के एक कद्दावर नेता और केंद्रीय मंत्री के मुताबिक भाजपा 2015 जैसी गलती नहीं दोहराना चाहती जब पार्टी ने किरण बेदी को केजरीवाल के मुकाबले मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार के रूप में पेश किया था, लेकिन दिल्ली की जनता ने उसे खारिज कर दिया और भाजपा 31 से तीन सीटों पर सिमट गई थी। भाजपा के एक वरिष्ठ नेता के मुताबिक, दिल्ली को लेकर केंद्रीय नेतृत्व ने एक बड़ी चूक ये की है कि 2015 में चुनाव में करारी हार के बावजूद कोई ठोस रणनीति नहीं बनाई गई और पार्टी को पूरी तरह प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी के भरोसे छोड़ दिया गया जबकि तिवारी न तो प्रदेश भाजपा के कार्यकर्ताओं का विश्वास जीत पाए और न ही पार्टी के जनाधार वर्ग में अपनी वो पकड़ बना पाए जो कभी भाजपा के पुराने और दिग्गज नेताओं मदनलाल खुराना, विजय कुमार मल्होत्रा, साहिब सिंह वर्मा जैसे नेताओं की होती थी।

Show more
content-cover-image
Delhi जीतने के लिए BJP को सिर्फ Modi-Shah पर भरोसामुख्य खबरें