content-cover-image

बेलगाम महंगाई, बिगड़ सकता है सरकार का बजट और आपकी किस्मत

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

बेलगाम महंगाई, बिगड़ सकता है सरकार का बजट और आपकी किस्मत

अर्थव्यवस्था के सबसे बुरे फेज को स्टैगफ्लेशन कहा जाता है- स्टैगनेशन (सुस्ती) और इन्फ्लेशन (महंगाई). इसको कह सकते हैं करेला और उसपर भी नीम चढ़ा हुआ. दूसरे शब्दों में कहें तो आमदनी बढ़ी नहीं लेकिन महंगाई डायन डसने को पहले से तैयार. मतलब दोहरी मार जो भारी नुकसानदायक होता है. दिसंबर के महीने में रिटेल महंगाई की दर करीब साढ़े सात परसेंट रही जो पांच साल में सबसे ज्यादा है. साढ़े सात परसेंट नॉमिनल ग्रोथ जो 1978 के बाद सबसे कम है और उतनी ही महंगाई की दर. इसका मतलब हुआ कि रियल ग्रोथ जीरो के बराबर है. ये डरा देने वाले हालात, जिसको स्टेगफ्लेशन कहा जाता है. ओडिशा और उत्तर प्रदेश में रिटेल महंगाई की दर तो करीब 9 परसेंट की रही. मतलब इन राज्यों में लोगों की असली आमदनी पिछले साल की तुलना में घट गई है. दिसंबर के महीने में सब्जियों की कीमत में पिछले साल की तुलना में 60 परसेंट का इजाफा हुआ, प्याज की कीमत 300 परसेंट बढ़ी, दालों में 15 परसेंट की महंगाई देखी गई और खाने के सामान करीब 14 परसेंट महंगे हुए. NSSO के सर्वे के नतीजे हमें बताते हैं कि गरीब परिवारों के उपभोग की चीजों का बड़ा हिस्सा खाने-पीने के सामान ही होते हैं. ऐसे में खाने-पीने के सामानों में महंगाई दूसरे चीजों की तुलना में काफी ज्यादा हो तो इसका सबसे ज्यादा नुकसान गरीबों का होता है. हाल में रेलवे के किराए में बढ़ोतरी हुई है, पेट्रोल-डीजल महंगा हुआ है और दालों के बारे में अनुमान है कि इसकी कीमत आगे भी बढ़ सकती है. खाने के तेल की एक कैटेगरी के आयात पर बैन लगा दिया गया है. ऐसे में हो सकता है कि इसकी कीमत में भी बढ़ोतरी हो. साथ ही यह बढ़ोतरी उस समय हो रही है जब पूरे दुनिया में खाने के सामान महंगे हो रहे हैं. इसकी वजह से महंगाई को आयात करने का खतरा भी बढ़ गया है. फिलहाल, जो महंगाई बढ़ी है उसमें सप्लाई साइड में रुकावट एक बड़ी वजह रही है. अगर किसी वजह से मांग में बढ़ोतरी भी दिखने लगती है, अर्थव्यवस्था में दमखम लौटने से ऐसा संभव है, तो महंगाई बढ़ने से आसार बढ़ेगे ही. ऐसा होता है तो रिकवरी वो को भी पंचर कर सकता है.

Show more
content-cover-image
बेलगाम महंगाई, बिगड़ सकता है सरकार का बजट और आपकी किस्मतमुख्य खबरें