content-cover-image

J-K: DSP का ड्रग माफिया से भी गहरा संबंध, पुलिस की थी नज़र

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

J-K: DSP का ड्रग माफिया से भी गहरा संबंध, पुलिस की थी नज़र

जम्मू-कश्मीर पुलिस ने दावा किया है कि बर्खास्‍त डीएसपी देविंदर सिंह की हरकतों पर कुछ दिनों से नजर रखी जा रही थी। पुलिस देविंदर सिंह का फोन भी ट्रैक कर रही थी। अधिकारियों का दावा है कि वह कई सप्ताह से इन आतंकियों के संपर्क में था। नाम ना छापने की शर्त पर एक अधिकारी ने बताया कि उन लोगों को विश्वास था कि देविंदर किसी गलत काम में लगा है। बाद में उसके घर छापेमारी में हमारा शक पुख्ता हो गया। अधिकारी ने कहा, 'इंदिरा नगर के पॉश एन्क्लेव में उसके घर पर छापेमारी से पांच ग्रेनेड और तीन एके -47 राइफल की बरामदगी हुई। इसमें कागजी कार्रवाई के अलावा उसके निवेश और संपत्ति का विवरण भी शामिल है, जो उपअधीक्षक को मिलने वाले वेतन से कहीं अधिक है।' जांच के दौरान यह भी पता चला है कि देविंदर सिंह का ड्रग माफिया से गहरा संबंध था। देविंदर सिंह पुलवामा के त्राल का रहने वाला है। यह वही इलाका है जो हिज्‍बुल मुजाहिदीन का गढ़ माना जाता है। आतंकी बुरहान वानी और जाकिर मूसा इसी इलाके के रहने वाले हैं। जम्‍मू-कश्‍मीर पुलिस के सूत्रों ने बताया कि देविंदर सिंह को आतंकवादियों को जम्‍मू ले जाने के लिए 10 लाख रुपये दिए गए थे।

Show more
content-cover-image
J-K: DSP का ड्रग माफिया से भी गहरा संबंध, पुलिस की थी नज़रमुख्य खबरें