content-cover-image

Kashi Vishwanath कॉरिडोर में हादसा, मलबे में दबकर बाबा का सिंहासन क्षतिग्रस्त

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

Kashi Vishwanath कॉरिडोर में हादसा, मलबे में दबकर बाबा का सिंहासन क्षतिग्रस्त

विश्वनाथ मंदिर कॉरिडोर निर्माण के दौरान मलबा ढहने से पूर्व विश्वनाथ मंदिर महंत के भवन का एक हिस्सा गिरा. 365 वर्ष प्राचीन रंगभरी एकादशी का रजत शिवाला और पालकी हुई क्षतिग्रस्त. पूर्व महंत ने दी जल समाधि की धमकी. वाराणसी के काशी विश्वनाथ मंदिर कॉरिडोर या विश्वनाथ धाम का निर्माणाधीन काम उस वक्त एक बार फिर विवादों में घिर गया जब मंदिर के नजदीक ही स्थित पूर्व महंत कुलपति तिवारी के आवास के पश्चिमी हिस्से की तरफ की दीवार उस वक्त ढह गई जब कॉरिडोर में लगा एक जेसीबी पूर्व मंहत के मकान से लगे मकान को तोड़ रहा था. जेसीबी द्वारा चार मंजीला मकान को तोड़ने के चलते सारा मलबा पूर्व महंत के आवास की पश्चिमी दीवार और कई कमरों को भी क्षतिग्रस्त कर गया. जिसकी जद में 365 वर्ष पुरानी वह रजत शिवाला और चांदी जड़ित पालकी भी थी जिसकी झांकी रंगभरी एकादशी के पर्व पर निकलती है. फिलहाल एहतियात के तौर पर पूर्व महंत के परिवार को नजदीक ही एक गेस्ट हाउस में शरण लेना पड़ा और पूर्व महंत कुलपति तिवारी ने चेतावनी भी दी है कि जल्द उनके मकान को मरम्मत करके वापस नहीं किया जाता तो वे जल समाधि ले लेंगे.

Show more

content-cover-image
Kashi Vishwanath कॉरिडोर में हादसा, मलबे में दबकर बाबा का सिंहासन क्षतिग्रस्तमुख्य खबरें