content-cover-image

Bal Thackeray: महाराष्ट्र की राजनीति का वो अहम् किरदार

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

Bal Thackeray: महाराष्ट्र की राजनीति का वो अहम् किरदार

महाराष्ट्र की राजनीति पर चर्चा के दौरान एक नाम जो हर किसी के जुबान पर रहता है वह बाल ठाकरे हैं। मुबंई की राजनीति में अहम कद रखने वाले बाल ठाकरे की जयंती पर देश उन्हें श्रद्धासुमन अर्पित कर रहा है। बाल ठाकरे की राजनीति के केंद्र में हिंदुत्व और मराठी मानुष थे। मुंबई आकर बसने वाले उत्तर भारतीयों के खिलाफ उनके बयान अक्सर चर्चा का विषय बनते थे। बाल ठाकरे का पुणे में 1926 में जन्म हुआ था। बाल ठाकरे लगभग 46 साल तक सार्वजनिक जीवन में रहे। लेकिन उन्होंने न तो कभी कोई चुनाव लड़ा, न ही कोई राजनीतिक पद स्वीकार किया, फिर भी महाराष्ट्र की राजनीति में अहम भूमिका निभाते रहे। मुंबई को अपना गढ़ बनाकर काम करने वाले बाल ठाकरे अपने विवादित बयानों की वजह से अक्सर सुर्खियां बटोरते रहे। जानिए उनके कुछ ऐसे ही विवादास्पद बयान अन्य राज्यों से मुंबई आकर बसने वालों के खिलाफ बाल ठाकरे बेहद कड़े शब्दों का प्रयोग करते थे। विशेषकर उत्तर प्रदेश और बिहार से आने वाले लोगों के प्रति उनकी टिप्पणी हमेशा से सख्त होती थी। उसी समय से यूपी-बिहार के लोगों को 'भईया' कहकर पुकारा जाने लगा था। मार्च 2010 में महाराष्ट्र के राज्यपाल के शंकरनारायण ने कहा था कि मुंबई में कोई भी रह सकता है। इस पर बाल ठाकरे ने शिवसेना के मुखपत्र सामना में लिखा था कि मुंबई धर्मशाला बन गई है, बाहरी लोगों को आने से रोकने का एकमात्र तरीका यही है कि परमिट सिस्टम लागू कर दिया जाए। साल 2008 में शिवसेना प्रमुख बाल ठाकरे ने बिहार के लोगों को लेकर विवादित बयान दिया था। सामना में प्रकाशित संपादकीय में बाल ठाकरे ने बिहारियों के लिए गोबर का कीड़ा शब्द का प्रयोग किया था। उन्होंने बिहारियों के लिए 'एक बिहारी सौ बीमारी' जैसी संज्ञा का इस्तेमाल भी किया था। नवंबर 2009 में क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर ने कहा था कि मुंबई...हर भारतीय की है। जिसपर बाल ठाकरे ने क्रिकेट के बहाने राजनीति न करने की नसीहत भी दी थी। उन्होंने कहा था कि जब आप चौका या छक्का लगाते हैं तो लोग आपकी सराहना करते हैं, लेकिन यदि आप मराठियों के अधिकारों का उल्लंघन करेंगे या उन पर टीका-टिप्पणी करेंगे तो इससे मराठी मानुष आहत होगा और वो इसे कभी बर्दाश्त नहीं करेंगे।

Show more
content-cover-image
Bal Thackeray: महाराष्ट्र की राजनीति का वो अहम् किरदार मुख्य खबरें