content-cover-image

Spl: भारत का वो 'लाल', जिसने हिला दिया था ब्रिटिश साम्राज्य

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

Spl: भारत का वो 'लाल', जिसने हिला दिया था ब्रिटिश साम्राज्य

लाल-बाल-पाल का नाम आते ही स्वतंत्रता संग्राम के जोश और जनून की तस्वीरें उभरने लगती हैं और शरीर में सिरहन सी दौड़ जाती है। लाल-बाल-पाल के 'लालÓ लाला लाजपत राय ऐसी ही शख्शियत थे, जिन्होंने अपनी जान की परवाह नहीं करते हुए, अपना सबकुछ अपने वतन के नाम कर दिया। गरम दल से ताल्लुक रखने वाले लालाजी ने भारत की आजादी के लिए न केवल अपने प्राण न्योछावर कर दिए, बल्कि उस समय के युवाओं को भी आजादी की लड़ाई के लिए प्रेरित किया। और आज भारत माता के उस वीर लाल यानी लाला लाजपत राय की जन्मतिथि पर उनके बलिदान को याद करना लाज़िमी है... पंजाब के मोगा जिले में आज ही के दिन यानी 28 जनवरी, 1865 को लाला लाजपत राय का जन्म हुआ। उनके पिता लाला राधाकृष्ण अग्रवाल पेशे से अध्यापक और उर्दू के प्रसिद्ध लेखक थे। लालाजी की लेखन और भाषण में बहुत रुचि थी। उन्होंने हिसार और लाहौर में वकालत शुरू की। लाला लाजपतराय को शेर-ए-पंजाब का सम्मानित संबोधन देकर लोग उन्हे गरम दल का नेता मानते थे। लाला लाजपतराय स्वावलंबन से स्वराज्य लाना चाहते थे।

Show more
content-cover-image
Spl: भारत का वो 'लाल', जिसने हिला दिया था ब्रिटिश साम्राज्य मुख्य खबरें