content-cover-image

BUDGET DICTIONARY: Fiscal Deficit/ राजकोषीय घाटा

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

BUDGET DICTIONARY: Fiscal Deficit/ राजकोषीय घाटा

जिस तरह से कमाई से ज्यादा खर्च किसी व्यक्ति की वित्तीय सेहत के लिए खतरनाक होता है, उसी तरह किसी देश को ज्यादा खर्च बर्बाद कर सकता है. जब कोई देश अपनी आय के मुताबिक खर्च करता है तो उसे राजकोषीय अनुशासन कहा जाता है. सरकार के लिए इस अनुशासन का पालन जरूरी है. हर सरकार अपने आय और खर्च में संतुलन के लिए राजकोषीय घाटे का लक्ष्य तय करती है. सरकार की कुल आय और कुल व्यय के बीच ke अंतर ko राजकोषीय घाटा yani fiscal deficit कहा जाता है| वित्तीय घाटा बताता है कि किसी वित्त वर्ष के दौरान सरकार की कुल आमदनी yani उधार को छोड़ कर aamdaniऔर कुल खर्च का अंतर कितना है। वित्तीय घाटे के बढ़ने का मतलब है कि सरकार की उधारी बढ़ेगी। यहां ये भी समझना जरूरी है कि अगर उधारी बढ़ेगी तो ब्याज की अदायगी भी बढ़ेगी। ब्याज का बोझ बढ़ने से सरकार के राजस्व घाटे पर नकारात्मक असर पड़ेगा। और एक तरह से सरकार कर्ज के जाल में फंसती जाएगी। वित्तीय घाटे के बढ़ने के एक मतलब ये है कि सरकार को ज्यादा उधार की जरूरत होगी, जिसकी वजह से ब्याज दरें भी बढ़ सकती हैं। वित्तीय घाटे की भरपाई के लिए सरकार आरबीआई से उधार लेती है जिसकी वजह से आरबीआई को ज्यादा करेंसी नोट छापने पड़ सकते हैं और ये महंगाई को बढ़ा सकता है। वित्तीय घाटे में बढ़ोत्तरी विकास दर पर नकारात्मक असर डालती है और निवेश के माहौल को खराब करती है।

Show more
content-cover-image
BUDGET DICTIONARY: Fiscal Deficit/ राजकोषीय घाटामुख्य खबरें