content-cover-image

BUDGET DICTIONARY: Structural Deficit & Cyclic Deficit/ ढांचागत घाटा & चक्रीय घाटा

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

BUDGET DICTIONARY: Structural Deficit & Cyclic Deficit/ ढांचागत घाटा & चक्रीय घाटा

सरकारी घाटा को हम दो तरह से समझ सकते हैं, एक ढांचागत और दूसरा चक्रीय। कारोबार का पहिया जब निचले बिंदु पर होता है तब बेरोजगारी अपने चरम सीमा पर होती है। इसका सीधा मतलब यह है कि कर राजस्‍व न्‍यूनतम स्‍तर पर है और खर्च उच्‍च स्‍तर पर। इसके विपरीत, कारोबार का पहिया जब उच्‍च बिंदु पर होता है तो बेरोजगारी निम्‍न स्‍तर पर होती है, कर राजस्‍व बढ़ता है और सामाजिक सुरक्षा खर्च में कमी आती है। कारोबारी पहिये के निम्‍न बिंदु पर अतिरिक्‍त उधारी की आवश्‍यकता को चक्रीय घाटा कहा जा सकता है। इस घाटे की भरपाई जब उच्‍च बिंदु पर हमारे पास अतिरिक्‍त राजस्‍व होता है, उसके जरिये की जाती है। ढांचागत घाटा वह घाटा है, जो पूरी तरह से कारोबारी पहिये से बाहर है। यह घाटा कर राजस्‍व की प्राप्‍ति और सरकारी खर्च के बीच अंतर आने से पैदा होता है। कुल बजट घाटे की गणना ढांचागत घाटे को चक्रीय घाटे या सरप्‍लस के साथ जोड़कर की जाती है।

Show more
content-cover-image
BUDGET DICTIONARY: Structural Deficit & Cyclic Deficit/ ढांचागत घाटा & चक्रीय घाटा मुख्य खबरें