content-cover-image

BUDGET DICTIONARY: Current Account Deficit/ चालू खाता घाटा

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

BUDGET DICTIONARY: Current Account Deficit/ चालू खाता घाटा

देश के कुल निर्यात और आयात के बीच के अंतर को चालू खाता घाटा कहा जाता है। ध्यान रहे यहां निर्यात और आयात सिर्फ वस्तुओँ से नहीं बल्कि वस्तुओँ और सेवाओँ के संदर्भ में लिए जाना चाहिए। यानी किसी देश में वस्तुओँ और सेवाओँ के आयात निर्यात के जरिए, कितनी विदेशी मुद्रा आती है और कितनी बाहर जाती है , उसके अंतर को चालू खाता घाटा कहते हैं। सिर्फ वस्तुओँ के निर्यात और आय़ात के अंतर को व्यापार घाटा ( ट्रेड डेफिसिट) कहा जाता है। लघु अवधि के लिए चालू खाता घाटा फायदेमंद साबित हो सकती है क्योंकि निवेशक ऐसी अर्थव्यस्थाओं में पैसा लगा सकते हैं। लेकिन लंबी अवधि तक बढ़ता चालू खाता घाटा किसी भी देश की अर्थव्यवस्था को बुरी तरह प्रभावित कर सकता है। चालू खाता घाटा बढ़ने से देश की मुद्रा में कमजोरी आ सकती है और देश में आने वाला निवेश घट सकता है। भारत में कच्चे तेल और सोने के बड़ी मात्रा में आयात की वजह से चालू खाते पर दवाब दिखता रहा है।

Show more
content-cover-image
BUDGET DICTIONARY: Current Account Deficit/ चालू खाता घाटामुख्य खबरें