content-cover-image

Budget 2020: भाषण में कश्मीरी कविता, Iltija Mufti ने सरकार पर साधा निशाना

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

Budget 2020: भाषण में कश्मीरी कविता, Iltija Mufti ने सरकार पर साधा निशाना

महबूबा मुफ्ती की बेटी इल्तिजा मुफ्ती ने घाटी में पाबंदियों के बीच बजट भाषण में कश्मीरी कविता पढ़े जाने को लेकर सरकार पर हमला बोला है, जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और पीपल्स डेमोक्रेटिक पार्टी प्रमुख महबूबा मुफ्ती की बेटी इल्तिजा मुफ्ती ने घाटी में प्रतिबंधों के बीच बजट भाषण में कश्मीरी कविता पढ़ने के लिए सरकार पर हमला बोला है. उन्होंने कहा कि घाटी में शेख अब्दुल्ला के पुत्रों सहित कई लोग अब भी हिरासत में हैं और उधर कश्मीरी कविता का उदाहरण दिया जा रहा है. इल्तिजा ने कहा कि घाटी में कई लोगों की नौकरी चली गई, पर्यटन लगभग ठप है और हालात भी सामान्य नहीं हुए, ऐसे में कश्मीरी कविता का क्या अर्थ. बता दें, संसद में शनिवार को बजट 2020 पेश करने के दौरान वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने साहित्य अकादेमी पुरस्कार विजेता प्रसिद्ध कश्मीरी कवि पंडित दीनानाथ कौल नदीम का उदाहरण दिया. वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट भाषण के दौरान कश्मीरी कविता का हिंदी अनुवाद करते हुए कहा, हमारा वतन खिलते हुए शालीमार बाग जैसा, हमारा वतन डल झील में खिलते हुए कमल जैसा, नौजवानों के गर्म खून जैसा, मेरा वतन बजट पेश करने के दौरान वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि आकांक्षी भारत, आर्थिक विकास और संवेदनशील समाज के लक्ष्य को लेकर मोदी सरकार बेहद गंभीर है. उन्होंने कहा, यह बजट तीन प्रमुख चीजों पर आधारित है. पहला आकांक्षी भारत जिसमें समाज के सभी वर्ग के लोगों का जीवन स्तर बेहतर हो, उन्हें उच्च कोटि की स्वास्थ्य, शिक्षा और बेहतर रोजगार की सुविधाएं मिलें.

Show more
content-cover-image
Budget 2020: भाषण में कश्मीरी कविता, Iltija Mufti ने सरकार पर साधा निशानामुख्य खबरें