content-cover-image

अब अपने 'पुराने दोस्त' से भी कच्चा तेल लेगा भारत, हुआ करार

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

अब अपने 'पुराने दोस्त' से भी कच्चा तेल लेगा भारत, हुआ करार

भारत अपने पुराने दोस्त रूस से कच्चा तेल आयात करेगा. इंडियन ऑयल ने बुधवार को रूसी कंपनी रोजनेफ्त के साथ एक करार किया जिसके तहत इस साल भारत 20 लाख टन यूराल ग्रेड कच्चे तेल का आयात करेगा. ऐसा करके भारत कच्चे तेल के लिए OPEC देशों पर अपनी निर्भरता कम करने की रणनीति पर काम कर रहा है. पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस व इस्पात मंत्री धर्मेद्र प्रधान और रोजनेफ्त के सीईओ एवं चेयरमैन आईगोर सेचिन के बीच यहां एक बैठक के दौरान बुधवार को दोनों कंपनियों ने पहले टर्म कॉन्ट्रैक्ट पर दस्तखत किए. पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि लॉन्ग टर्म के कॉन्ट्रैक्ट के जरिये रूस से कच्चे तेल की प्राप्ति, गैर-ओपेक देशों से देश में कच्चे तेल की आपूर्ति में विविधिता से जुड़ी भारतीय रणनीति का एक हिस्सा है. यह हाइड्रोकार्बन क्षेत्र में द्विपक्षीय सहयोग के लिए पंचवर्षीय रोडमैप का भी एक हिस्सा है, जिस पर पिछले साल सितंबर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की व्लादिवोस्तोक यात्रा के दौरान हस्ताक्षर किए गए थे. गौरतलब है कि दुनिया के तेल उत्पादन पर द ऑर्गनाइजेशन ऑफ द पेट्रोलियम एक्सपोर्टिंग कंट्रीज यानि OPEC का दबदबा है. OPEC के सदस्य देशें में ईरान, इराक, कुवैत, सऊदी अरब,अल्जीरिया, अंगोला,इक्वेटेरियल गुएना, गैबोन, कुवैत, लीबिया,नाइजीरिया, कांगो और वेनेजुएला शामिल हैं.

Show more
content-cover-image
अब अपने 'पुराने दोस्त' से भी कच्चा तेल लेगा भारत, हुआ करार मुख्य खबरें