content-cover-image

Russia में शुरू हुई मिशन गगनयान के अंतरिक्ष यात्रियों की ट्रेनिंग

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

Russia में शुरू हुई मिशन गगनयान के अंतरिक्ष यात्रियों की ट्रेनिंग

गगनयान मिशन के लिए चुने गए चारों एयरफोर्स पायलटों ने रूस में अपनी ट्रेनिंग शुरू कर दी है। ये शुक्रवार को रूस के लिए रवाना हुए थे। इन चारों का प्रशिक्षण रूस के गैगरिन रिसर्च ऐंड टेस्‍ट कॉस्‍मोनॉट ट्रेनिंग सेंटर में होना है। बता दें कि इनको स्‍क्रीनिंग के जरिए चुना गया था। रूस की एजेंसी द्वारा जारी एक बयान में कहा, 'जीसीटीसी ने भारतीयों का ट्रेनिंग प्रोग्राम शुरू कर दिया है। ऐसा ग्‍लावकॉसमॉस और इसरो के ह्यूमन स्‍पेसफ्लाइट सेंटर के बीच हुए अनुबंद के तहत किया जा रहा है।' 12 महीने के इस प्रशिक्षण कार्यकम में इन पायलटों को फिजिकल प्रैक्टिस के साथ बायोमेडिकल ट्रेनिंग भी कराई जाएगी। ग्‍लावकॉसमॉस ने आगे बताया कि इन लोगों को रूसी स्‍पेसशिप सोयुज के सिस्‍टम को भी बारीकी से समझने का मौका दिया जाएगा। इसके अलाव इन्‍हें Il-76MDK एयरक्राफ्ट में भारहीनता (जीरो ग्रेविटी) का अभ्‍यास भी करना होगा। गौरतलब है कि भारत ने अपने पहले मानवयुक्त अंतरिक्ष मिशन को मिशन गगनयान नाम दिया है। इस अभियान का मकसद भारतीय गगनयात्रियों को अंतरिक्ष यात्रा पर भेजकर उन्हें सुरक्षित वापस लाना है। गगनयान के लिए इंडियन एयर फोर्स के 12 पायलटों को चुना गया था। बताया जाता है कि इन्‍हें करीब 60 उम्‍मीदवारों के बीच से चुना गया था। इसरो का महत्‍वकांक्षी अभियान 2022 के लिए प्रस्‍तावित है।

Show more

content-cover-image
Russia में शुरू हुई मिशन गगनयान के अंतरिक्ष यात्रियों की ट्रेनिंगमुख्य खबरें