content-cover-image

जंगल के 15 कड़े कानून तोड़ने वाले बने कर्नाटक का वनमंत्री

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

जंगल के 15 कड़े कानून तोड़ने वाले बने कर्नाटक का वनमंत्री

कर्नाटक के नए वन और पर्यावरण मंत्री बने आनंद सिंह चर्चा में हैं. चर्चा इसलिए हो रही है क्योंकि जिन आनंद सिंह को कर्नाटक का वन और पर्यावरण मंत्रालय दिया गया है, उनपर अवैध खनन से लेकर वन से संबंधित अपराध के 15 मामले लंबित है. कर्नाटक की 6 महीने पुरानी बीजेपी की येदियुरप्पा सरकार सवालों के घेरे में है. लोग सवाल कर रहे हैं, जिस नेता पर अवैध खनन और जंगल से संबधित अपराधों के 15 मामले लंबित हो, उसे वन और पर्यावरण मंत्रालय कैसे दिया जा सकता है? इस पर विपक्ष के साथ कर्नाटक के लोकायुक्त ने भी सरकार पर हमला बोला है. आनंद सिंह कर्नाटक के ताकतवर नेताओं में से गिने जाते हैं. उनका परिवार माइनिंग के बिजनेस से जुड़ा है. बताया जा रहा है कर्नाटक के बीजेपी सरकार में आनंद सिंह को पहले फूड और सिविल सप्लाई मंत्रालय दिया गया था. लेकिन वो इस मंत्रालय का प्रभार लेने को तैयार नहीं हुए. एक दिन बाद ही उनका मंत्रालय बदल दिया गया और उन्हें वन और पर्यावरण मंत्रालय मिल गया. कर्नाटक के इस विवादास्पद मामले में बीजेपी बुरी तरह से घिरती जा रही है. इस मामले पर डेक्कन क्रॉनिकल से बात करते हुए कर्नाटक के पूर्व लोकायुक्त जस्टिस एन संतोष हेगड़े ने कहा है कि- अंग्रेजी में एक कहावत है. चोर को पकड़ने के लिए एक चोर को लगा दो. मेरा उस शख्स से कोई व्यक्तिगत झगड़ा नहीं है. लेकिन कोई मुझसे उस आदमी के बारे में पूछेगा, जिसने खुद इस बात को स्वीकार किया है कि उसके खिलाफ क्रिमिनल केसेज़ लंबित हैं. मुझे लगता है कि सरकार ने अवैध खनन पर मेरी रिपोर्ट को खारिज कर दिया है. ऐसे किसी इंसान को मंत्रालय देने से पहले जनता का भी ख्याल रखना चाहिए.

Show more

content-cover-image
जंगल के 15 कड़े कानून तोड़ने वाले बने कर्नाटक का वनमंत्रीमुख्य खबरें