content-cover-image

स्वयंभू धर्मगुरु का ‘ज्ञान’-पीरियड्स में महिला ने खाना बनाया तो...

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

स्वयंभू धर्मगुरु का ‘ज्ञान’-पीरियड्स में महिला ने खाना बनाया तो...

आज के जमाने में महिला और पुरुष को लेकर समाज में काफी समानताएं आ गयी हैं। महिलाएं अपने अधिकारों से भली भांति परिचित हैं और पुरुषों की तुलना में कहीं भी काम नजर नहीं आ रही हैं। यानि की अब काफी हद तक कहा जा सकता है कि महिला-पुरुष में भेदभाव नहीं है ऐसे में स्वामीनारायण भुज मंदिर के स्वामी कृष्णस्वरुप दासजी जो खुद एक उपदेशक हैं उनका एक उपदेश का सामने आया है जिसमें वो माहवारी के दौरान खाना बनाने वाली महिलाओं को लेकर टिप्पणी कर रहे हैं। गुजरात के एक स्वयंभू धर्मगुरु ने महिलाओं को लेकर एक विवादित और अजीबोगरीब बयान दिया है. स्वामीनारायण भुज मंदिर के कृष्णदास का कहना है कि जिस महिला को पीरियड्स हो रहे हैं, अगर किसी ने उसके हाथ का बना खाना एक बार भी खाया तो उसका अगला अवतार बैल का होगा. इतना ही नहीं, उन्होंने कहा कि अगर ऐसी महिला अपने पति के लिए खाना बनाती है, तो उसका पुनर्जन्म कुतरी (bitch) के रूप में होगा. यह प्रवचन स्वामी ने गुजराती भाषा में दिया है। कृष्णस्वरूप दासजी ने आगे कहा कि, ''मुझे नहीं याद कि मैंने पहले आप लोगों को भी यह बताया कि नहीं बताया। मैं पिछले 10 वर्षों में यह सुझाव पहली बार दे रहा हूं। बहुत से संत मुझसे कहते हैं कि अपने धर्म के छुपे तथ्यों पर बात नहीं करनी चाहिए लेकिन मैं बताउंगा नहीं तो लोगों को पता कैसे चलेगा।'' साथ ही उन्होंने पुरुषों से भी कहा कि अगर आप किसी माहवारी के दौरान खाना बनाने वाली महिला के हाथ का बना हुआ भोजन करते हैं तो उसके दोषी आप भी हैं क्योंकि शास्त्रों में साफ-साफ लिख हुआ है शादी से पहले आपको पता होना चाहिए कि खाना कैसे खाना है। गौर करने वाली बात है कि अभी हाल ही में भुज में स्थित एक कॉलेज के प्रिंसिपल ने कथित तौर पर छात्राओं से बेहद अपमानजनक चीजें करने को कही। प्रिंसिपल पर आरोप है कि उसने पीरियड्स से गुजर रही छात्राओं के साथ कॉलेज परिसर में लोगों से दूर रहने को कहा था। उसने कहा था कि ऐसी छात्राएं दूसरे छात्रों से बातचीत नहीं कर सकती हैं ना ही उन्हें छू सकती हैं। सोशल मीडिया पर धर्मगुरु के इस बयान की खूब आलोचना हो रही है. सोशल मीडिया यूजर्स ने स्वयंभू धर्मगुरु के इस बयान की आलोचना की है. एक यूजर ने लिखा, ‘कौन इन्हें बताएगा कि इसी मेंस्ट्रुअल ब्लड में उन्होंने 9 महीने गुजारे हैं?’

Show more

content-cover-image
स्वयंभू धर्मगुरु का ‘ज्ञान’-पीरियड्स में महिला ने खाना बनाया तो...मुख्य खबरें