content-cover-image

Nirbhaya Case: फांसी से बचने को दोषी की नई चाल, खुद को किया घायल

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

Nirbhaya Case: फांसी से बचने को दोषी की नई चाल, खुद को किया घायल

निर्भया गैंगरेप और मर्डर के दोषियों के पास फांसी टालने का विकल्प खत्म होने लगा तो अब वो नए तिकड़म में जुट गए हैं। बताया जा रहा है कि चारों दोषियों में एक विनय शर्मा ने सोमवार को जेल की दीवार पर माथा पटककर खुद को घायल कर लिया। वह तिहाड़ जेल के बैरक नंबर तीन में रह रहा है। जेल अथॉरिटीज ने कहा कि निर्भया के दोषियों पर वॉर्डन इन-चार्ज की कड़ी नजर रहती है, फिर भी विनय खुद को चोट पहुंचाने में सफल हो गया। हालांकि, वॉर्डन ने उसे रोका, लेकिन तब तक वह घायल हो चुका था। उसे अस्पताल ले जाया गया जहां प्राथमिक चिकित्सा के बाद वो ठीक है । सूत्रों ने कहा कि विनय ने जेल के ग्रिल्स में अपना हाथ फंसाकर फ्रैक्चर करने की भी कोशिश की। उसके वकील एपी सिंह ने कहा कि यह घटना 16 फरवरी को हुई थी और विनय की मां ने उन्हें अगले दिन इसकी जानकारी दी थी। 17 फरवरी को विनय ने अपनी मां को पहचानने से भी इनकार कर दिया था। सिंह ने कहा कि विनय की मानसिक अवस्था ठीक नहीं है और नया डेथ वॉरंट जारी होने के बाद से उसकी दिमागी हालत बिगड़ गई है। चारों को अपने-अपने माता-पिता से मिलने की इजाजत है, हालांकि कई बार उन्होंने मिलने से इनकार भी किया है। उन्हें मानसिक तौर पर बिल्कुल चुस्त-दुरुस्त रखने के सारे प्रयास किए जा रहे हैं। सूत्रों ने बताया कि फांसी की सजा पाए दोषी कई बार इसलिए हिंसक व्यवहार करते हैं ताकि उन्हें चोट पहुंचे और वह फांसी को कुछ और वक्त तक टालने में कामयाब रहें। जेल अधिकारियों ने कहा कि अगर कोई दोषी घायल हो जाता है या उसका वजन कम हो जाता है तो स्वस्थ होने तक उसकी फांसी टाली जा सकती है।

Show more
content-cover-image
Nirbhaya Case: फांसी से बचने को दोषी की नई चाल, खुद को किया घायल मुख्य खबरें