content-cover-image

Congress ने शिवसेना को NRC और NPR के मुद्दे पर घेरा

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

Congress ने शिवसेना को NRC और NPR के मुद्दे पर घेरा

नागरिकता संशोधन कानून यानी CAA नेशनल पॉपुलेशन रजिस्टर यानी NPR पर शिवसेना की भूमिका को लेकर कांग्रेस पार्टी ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पर निशाना साधा है. कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी ने इसे लेकर एक ट्वीट किया है, जिसमें उन्होंने कहा है कि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री नागरिकता संशोधन कानून, नेशनल पॉपुलेशन रजिस्टर और नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजंस (NRC) के बीच जो कड़ियां हैं, उसे समझाएं कि किस तरह एनपीआर और एनआरसी जुड़े हुए हैं. एनपीआर इसके लिए आधार की तरह काम करेगा. इसके साथ ही तिवारी ने कहा कि एक बार एनपीआर लागू हो गया, तो एनआरसी को कोई रोक नहीं सकता. मनीष तिवारी ने कहा कि सीएए को भारतीय संविधान के अनुसार बदला जाना चाहिए, क्योंकि नागरिकता कानून धर्म के आधार पर नहीं बनाया जा सकता. इस बीच नेशनल पॉपुलेशन रजिस्टर को लेकर समाजवादी पार्टी के नेता अबू आजमी ने भी मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को धमकी भरे अंदाज में चेताया है. अबू आजमी ने कहा कि जिस तरह से केरल और बंगाल में प्रस्ताव पास हुआ, उसी तरह से महाराष्ट्र भी करे, इस कानून से मुसलमानों को परेशानी होगी. अगर महाराष्ट्र मेँ जनगणना की तरह ही एनपीआर लागू किया जाता है, तो ठीक नहीं होगा, हम इसका विरोध करते हैं. फिलहाल हम मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से निवेदन कर रहें हैं. लेकिन जरूरत पड़ी तो हम इसका जमकर विरोध करने से हिचकेंगे नहीं. बता दें कि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की सरकार कांग्रेस, एनसीपी और समाजवादी पार्टी जैसी सूबे की दूसरी छोटी पार्टियों के विधायकों के समर्थन पर टिकी हुई है. मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह से शुक्रवार रात दिल्ली में मुलाकात के बाद कहा था कि सीएए और एनपीआर प्रदेश में लागू करने पर उनकी सरकार कायम है.

Show more

content-cover-image
Congress ने शिवसेना को NRC और NPR के मुद्दे पर घेरा मुख्य खबरें