content-cover-image

दिल्ली हिंसा: HC को पुलिस ने बताई FIR न करने की वजह

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

दिल्ली हिंसा: HC को पुलिस ने बताई FIR न करने की वजह

दिल्ली हाई कोर्ट में दिल्ली हिंसा मामले पर सुनवाई शुरू हो गई है. कोर्ट में दिल्ली पुलिस के प्रतिनिधि सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कहा कि याचिकाकर्ता ने अपने विवेक से सिर्फ 3 भड़काऊ भाषणों का चयन किया है. ऐसे और भी भड़काऊ भाषण मौजूद हैं. तुषार मेहता ने कहा, 'याचिकाकर्ता ने सिर्फ 3 भाषणों को हेट स्पीच के तौर पर चुना, याचिकाकर्ता की सिर्फ तीन ही व्यक्तियों में ज्यादा दिलचस्पी है, इस तरह के कई और भी भाषण हैं, हम इन भाषणों में चुनाव नहीं कर सकते.' दिल्ली पुलिस ने HC को बताया कि उन्होंने किसी भी भड़काऊ भाषणकर्ता के खिलाफ अभी FIR दर्ज नहीं की है. उनके अनुसार उनका ये फैसला दिल्ली में शांति और सामान्य स्थिति बहाल करने के लिए जरूरी था. दिल्ली पुलिस ने बताया कि उन्होंने नॉर्थ ईस्ट दिल्ली हिंसा मामले में अब तक 48 FIR दर्ज की हैं. दिल्ली हाई कोर्ट ने केंद्र से मामले में जवाब दाखिल करने के लिए कहा और 13 अप्रैल के लिए मामले को सूचीबद्ध किया. बता दें दिल्ली हाईकोर्ट ने बुधवार को दिल्ली पुलिस को राष्ट्रीय राजधानी में कथित रूप से हिंसा भड़काने के मामले में तीन प्रमुख राजनीतिक नेताओं के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने के लिए एक 'सचेत निर्णय' लेने का निर्देश दिया था. इस दौरान न्यायमूर्ति मुरलीधर ने कहा कि गलत संकेत जा रहा है और इसके लिए एफआईआर दर्ज करने की जरूरत है. उन्होंने कहा कि हम एक और 1984 नहीं चाहते हैं.

Show more
content-cover-image
दिल्ली हिंसा: HC को पुलिस ने बताई FIR न करने की वजहमुख्य खबरें