content-cover-image

IAF Chief बोले, वायुसेना के लिए काफी नहीं राफेल !

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

IAF Chief बोले, वायुसेना के लिए काफी नहीं राफेल !

भारतीय वायु सेना में जल्द 36 राफेल जेट को शामिल किया जाएगा, लेकिन IAF चीफ एयर मार्शल आर के एस भदौरिया का मानना है, कि यह सेना की जरूरत के लिए काफी नहीं होगा। उन्होंने शुक्रवार को स्वदेशी प्लेटफॉर्म को विकसित करने के लिए जरूरत पर ध्यान दिलाते हुए यह बात कही। सेंटर फॉर एयर पावर स्टडीज की तरफ से आयोजित 'एयर पावर इज नो वार नो पीस सिनेरियो' पर आयोजित सेमिनार में IAF चीफ भदौरिया ने कहा कि सब-कन्वेंशनल डोमेन में एयर फोर्स का इस्तेमाल 'टैबू' माना जाता था और बालाकोट स्ट्राइक से इसमें मौलिक बदलाव आया है। स्वदेशी हथियारों के निर्माण की जरूरत पर जोर देते हुए भदौरिया ने कहा कि अगर अगले हवाई भिड़त में वायु सेना स्वदेश निर्मित हथियार का इस्तेमाल हो तो यह गेम चेंजर साबित होगा। उन्होंने कहा, '36 राफेल जेट वायु सेना की जरूरत को पूरा नहीं कर सकते। हमें बेहतर वायु शक्ति को दिखाने के लिए में SU-30 और MIG-29 जैसे एयरक्राफ्ट के लिए स्वदेशी अस्त्र मिसाइल के इस्तेमाल को योग्य बनना होगा।' एयर मार्शल भदौरिया ने कहा कि भारतीय वायु सेना सफलतापूर्वक बालाकोट स्ट्राइक को अंजाम दिया, जिसने दिखाया कि गैर-पारंपरिक युद्ध में किस तरह वायु क्षमता का इस्तेमाल किया जा सकता है।

Show more
content-cover-image
IAF Chief बोले, वायुसेना के लिए काफी नहीं राफेल !मुख्य खबरें