content-cover-image

2 घंटे तक अफवाहों से बेचैन रही दिल्ली, जानिए ऐसी स्थिति में क्या करें

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

2 घंटे तक अफवाहों से बेचैन रही दिल्ली, जानिए ऐसी स्थिति में क्या करें

सड़कों पर बदहवास भागते लोग। दुकानों के धड़ाधड़ गिरते शटर। खैरियत पूछने के लिए लगातार घनघनाते मोबाइल। नॉर्थ-ईस्ट दिल्ली में दंगों के बाद रविवार शाम दिल्ली को बेचैन कर दिया। अचानक अफवाहों ने समूची दिल्ली में अफरा-तफरी का माहौल बना दिया। जानिए कल शाम आखिर हुआ क्या था और फिर कभी ऐसी स्थिति आए, तो आपको करना क्या चाहिए। बताते हैं, अफवाहें शाम करीब 7 बजे ट्विटर, वॉट्सऐप ग्रुप के जरिए साउथ ईस्ट के जैतपुर, जसोला, मदनपुर खादर से शुरू हुईं। अफवाह ने तब और तेजी पकड़ी जब दिल्ली मेट्रो को इस कारण से तिलक नगर स्टेशन की एंट्री-एग्जिट बंद करनी पड़ी। फिर तो सोशल मीडिया खासकर अलग-अलग वॉट्सऐप ग्रुप पर अफवाहों के मेसेज वायरल होने लगे। फिर नांगलोई, सूरजमल स्टेडियम, बदरपुर, तुगलकाबाद, उत्तम नगर, नवादा मेट्रो स्टेशनों में भी एंट्री-एग्जिट बंद हो गए। लोग सही हालात की जानकारी ले पाते इससे पहले ही ये आंधी-तूफान की तरह फैल गईं। एक के बाद एक... अलग-अलग कोनों से भगदड़, हिंसा की अफवाहें फैल गईं। अलग-अलग इलाकों से पुलिस को उपद्रव की धड़ाधड़ कॉल आने लगीं। घंटेभर में 400 से ज्यादा कॉल आईं। अगली बार ऐसी स्थिति आये तो आप घबराएं नहीं , बल्कि - 1. वॉट्सऐप फॉरवर्ड से आने वाली अफवाहों को दूसरों को शेयर न करें। इनकी पुष्टि करना मुश्किल होता है और इससे डर का माहौल बनता है। . नफरत भरी सोशल मीडिया पोस्ट को न तो शेयर करें और न ही इन्हें आगे बढ़ाने वालों को सपोर्ट करें। . अपने मोहल्ले में छोटी-छोटी मीटिंग करके संवाद कायम रखें और कोई भी अफवाह को आगे बढ़ने से रोकें। . आपके इलाके में कोई संदिग्ध हरकत या उकसाऊ बातें कर रहा तो पुलिस को इसकी जानकारी दें। . अगर आपके इलाके के बारे में कोई गलत अफवाह है, तो आप विडियो शूट कर सोशल मीडिया पर सही तस्वीर पेश कर सकते हैं।

Show more
content-cover-image
2 घंटे तक अफवाहों से बेचैन रही दिल्ली, जानिए ऐसी स्थिति में क्या करेंमुख्य खबरें