content-cover-image

भ्रष्टाचार के आप हैं शिकार? ऐसे करें लोकपाल से शिकायत..

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

भ्रष्टाचार के आप हैं शिकार? ऐसे करें लोकपाल से शिकायत..

लोकपाल गठन के 11 महीने बाद सरकार ने शिकायत दर्ज करने का प्रारूप जारी कर दिया है. कार्मिक मंत्रालय के आदेश में इसकी जानकारी दी गई है. लोकपाल का गठन प्रधानमंत्री समेत सरकारी कर्मचारियों के खिलाफ भ्रष्टाचार की शिकायत दर्ज कराने को लेकर किया गया था. भ्रष्टाचार की शिकायतों के लिए हलफनामे के साथ गैर ज्यूडीशियल स्टांप पेपर भी देना होगा. साथ ही प्रारूप के मुताबिक जानकारी देनी होगी. इसमें यह भी कहा गया है कि गलत या फसाने वाली शिकायत देना दंडनीय अपराध है. भ्रष्टाचार की शिकायत करने वाले अगर सरकारी कर्मचारी को फसाने की नीयत से शिकायत करते हैं और यह साबित होता है तो उसे सजा का प्रावधान है. ऐसे में उसे एक साल की जेल भी हो सकती है. साथ ही एक लाख रुपये तक जुर्माना भी हो सकता है. शिकायत अंग्रेजी में इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से भी दर्ज कराई जा सकती है. इसके अलावा पोस्ट के जरिए और खुद जाकर भी शिकायत दी जा सकती है. अगर शिकायत इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से की गई हो तो 15 दिनों के अंदर इसकी हार्ड कॉपी लोकपाल के पास जमा करानी होगी. प्रधानमंत्री समेत सरकारी कर्मचारियों के खिलाफ भ्रष्टाचार की शिकायत की जा सकती है. लोकपाल के पास 22 भाषाओं में शिकायत दर्ज करवाई जा सकती है. इनमें हिन्दी, गुजराती, असमिया, मराठी और अंग्रेजी शामिल है. शिकायत करने वालों को शिकायत के साथ-साथ अपना आइडेंटिटी प्रूफ भी देना होगा. प्रारूप के मुताबिक अगर कोई आर्गेनाइजेशन, कॉर्पोरेशन, कंपनी या ट्रस्ट शिकायत करती है तो उसे अपना रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट भी शिकायत के साथ देना होगा. लोकपाल को 30 दिनों के अंदर मामले को सुलझाना होगा.

Show more
content-cover-image
भ्रष्टाचार के आप हैं शिकार? ऐसे करें लोकपाल से शिकायत..मुख्य खबरें