content-cover-image

Coronavirus: ईरान में फंसे भारतीयों को लाने के लिए सरकार चीन वाला कदम उठाने जा रही है

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

Coronavirus: ईरान में फंसे भारतीयों को लाने के लिए सरकार चीन वाला कदम उठाने जा रही है

दुनिया के कई देश कोरोना वायरस की चपेट में हैं. लगभग 1,07,000 लोग कोरोना से संक्रमित हैं. 3600 मौतें हो चुकी हैं. इनमें से ज्यादातर मौत चीन में हुई है. हालांकि यहां पर अब नए मामलों में कमी आ रही है. ईरान सबसे ज्यादा प्रभावित देशों में से एक है. ईरान के स्टेट टेलीविजन ने बताया कि कोरोना वायरस की वजह से 43 और लोगों की मौत हो गई. अब तक 237 लोगों की मौत हो चुकी है. संक्रमण के 7161 केस कंफर्म पाए गए हैं. ईरान में काफी संख्‍या में भारतीय फंसे हुए है. उनको इंडिया लाने की कोशिश हो रही है. सरकारी सूत्रों के मुताबिक, ईरान से भारतीयों को निकालने के लिए एयरफोर्स का सी-17 ग्लोबमास्टर ईरान भेजा जाएगा. चीन के वुहान में कोरोना वायरस से पीड़ित भारतीयों के रेस्क्यू के लिए भी भारत सरकार ने एयरफोर्स के विमान C-17 ग्लोबमास्टर को चीन भेजा था. विदेश मंत्री एस जयशंकर 9 मार्च को अचानक श्रीनगर पहुंचे. ईरान में फंसे भारतीय छात्रों और जियारत करने गए लोगों के परिजनों से मुलाकात की. विदेश मंत्री ने कहा कि घबराने की जरूरत नहीं है. वहां गए सभी भारतीय सुरक्षित हैं. सरकार उन्हें जल्द इंडिया लाएगी. विदेश मंत्री ने कहा कि ईरान के कोम शहर में फंसे भारतीयों की वापसी की कोशिशें जारी हैं. कोम शहर में लगभग 40 भारतीय फंसे हैं. भारतीय डॉक्टरों ने वहां एक क्लिनिक बनाया है.

Show more

content-cover-image
Coronavirus: ईरान में फंसे भारतीयों को लाने के लिए सरकार चीन वाला कदम उठाने जा रही हैमुख्य खबरें