content-cover-image

Fake News Buster: Coronavirus से बचने के लिए China ने नहीं बांटी कुरान !

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

Fake News Buster: Coronavirus से बचने के लिए China ने नहीं बांटी कुरान !

दुनियाभर में कोरोना वायरस का कहर जारी है. अब तक कोरोना वायरस के 1,21,000 कन्फर्म हो चुके हैं और इसकी चपेट में आकर 4378 मौतें हो चुकी हैं. चीन से फैला यह जानलेवा वायरस अब तक लगभग पूरी दुनिया को अपनी चपेट में ले चुका है. दूसरी ओर, सोशल मीडिया पर कोरोना वायरस के बारे में गलत जानकारियां और फर्जी खबरें भी खूब फैल रही हैं. कई फेसबुक यूजर्स ने हाल ही में एक वीडियो पोस्ट किया है जिसमें कुछ लोगों को एक किताब को लेकर भावुक होते हुए देखा जा सकता है. इस वीडियो के साथ दावा किया जा रहा है कि कोरोनावायरस के फैलने के बाद अब चीन ने कुरान पढ़ने पर प्रतिबंध हटा लिया है और चीन सरकार ने अब लोगों को कुरान की प्रतियां बांटना शुरू कर दिया है. फेसबुक यूजर्स जैसे “Pakistan is online ” और “Niyaz Ahmed” ने वीडियो पोस्ट करते हुए अंग्रेजी में कैप्शन में लिखा, जिसका हिंदी अनुवाद है, “चीन की सरकार ने पवित्र कुरान पढ़ने पर पाबंदी लगा दी थी और कोरोना वायरस के बाद सरकार लोगों को पढ़ने के लिए कुरान बांट रही है. अल्लाह और कुरान का क्या अद्भुत चमत्कार है.” पड़ताल में पाया गया कि पोस्ट में किया जा रहा यह दावा गलत है. वायरल हो रहा यह वीडियो कम से कम सात साल पुराना है और कोरोनावायरस से इस वीडियो का कुछ लेना-देना नहीं है. फेसबुक पर यह पोस्ट वायरल है और तमाम लोग इस वीडियो को यह मानकर शेयर कर रहे हैं कि यह चीन में फैले कोरोनावायरस से ही जुड़ा वीडियो है. पाया गया कि वायरल हो यह वीडियो इंटरनेट पर 2013 से ही उपलब्ध है. “gospelprime.com ” नाम की एक वेबसाइट पर 19 मार्च, 2013 को एक लेख प्रकाशित हुआ था, जिसमें हाथ में किताब लिए एक महिला की फोटो का इस्तेमाल किया गया है. वायरल वीडियो में भी इस महिला को देखा जा सकता है. इस लेख में दावा किया गया है कि बाइबिल की प्रतियां प्राप्त करने के बाद चीनी ईसाइयों ने कुछ इस तरह प्रतिक्रिया व्यक्त की. यही वीडियो 2014 में यूट्यूब पर अपलोड किया गया जिसका कैप्शन स्पेनिश भाषा में है. इसमें भी कहा ​गया है कि चीन में बाइबिल की प्रतियां पाने के बाद ईसाइयों ने भावुक प्रतिक्रिया व्यक्त की. हालांकि, चीन की सरकार द्वारा धार्मिक किताबों पर नियंत्रण संबंधी तमाम न्यूज रिपोर्ट मौजूद हैं, लेकिन ऐसी कोई न्यूज रिपोर्ट नहीं मिली जिसमें कोरोनावायरस के फैलने के बाद चीन में मु​सलमानों को कुरान बांटने का जिक्र हो. इसलिए आसानी से कहा जा सकता है कि इस वीडियो का मौजूदा कोरोनावायरस नाम की बीमारी से कोई संबंध नहीं है.

Show more

content-cover-image
Fake News Buster: Coronavirus से बचने के लिए China ने नहीं बांटी कुरान !मुख्य खबरें