content-cover-image

NPR में डॉक्यूमेंट पर गृह मंत्री Amit Shah ने कही ये बड़ी बात..

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

NPR में डॉक्यूमेंट पर गृह मंत्री Amit Shah ने कही ये बड़ी बात..

दिल्ली दंगे पर लोकसभा में जवाब देने के अगले दिन गुरुवार को गृह मंत्री अमित शाह ने उच्च सदन राज्य सभा में चर्चा का विस्तार से जवाब दिया। इस दौरान उन्होंने सदन और उसके माध्यम से पूरे देश को भरोसा दिलाया कि दंगाई चाहे किसी भी जाति, धर्म, विचारधारा, पार्टी के हों, बख्शे नहीं जाएंगे। गृह मंत्री अमित शाह ने साथ में विपक्षी दलों से सीएए और एनपीआर को लेकर भ्रम न फैलाने की अपील की। उन्होंने दो टूक कहा कि एनपीआर में किसी से कोई कागज नहीं मांगा जाएगा और न ही किसी को डाउटफुल यानी डी मार्क किया जाएगा। गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि कपिल सिब्बल बड़े अधिवक्ता हैं. मैं उनसे पूछना चाहता हूं कि मुझे बताएं सीएए में ऐसा कौन सा प्रावधान है जिससे मुस्लिमों की नागरिकता छिन सकती है. इसपर कपिल सिब्‍बल ने बीच में उठकर कहा कि उन्‍होंने मुस्लिमों की नागरिकता छिनने की बात नहीं कही. जब अमित शाह और कपिल सिब्‍बल के बीच में सदन में बात हो रही थी तो अन्‍य सांसद हूटिंग भी कर रहे थे. अमित शाह ने कहा, 'अगर एनपीआर की बात करें तो उसमें सूचना देने का प्रावधान वैकल्पिक है. एनपीआर में कोई भी कागजात नहीं मांगा जाएगा. इस देश में किसी को भी NPR की प्रक्रिया से डरने की जरूरत नहीं है.' गृह मंत्री ने कहा, 'मैं गुलाम नबी आजाद, डेरेक ओ ब्रायन और आनंद शर्मा से कह चुका हूं कि आप आइए हमारे साथ बैठिए और एनपीआर पर चर्चा कीजिए, मैं सभी सवालों के जवाब देने के लिए तैयार हूं.

Show more

content-cover-image
NPR में डॉक्यूमेंट पर गृह मंत्री Amit Shah ने कही ये बड़ी बात..मुख्य खबरें