content-cover-image

इस शहर की ट्रैफिक पुलिस जो कर रही है उससे जनता की लाइफ बदल गई

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

इस शहर की ट्रैफिक पुलिस जो कर रही है उससे जनता की लाइफ बदल गई

“किसी भी नियम को लागू करने के लिए कार्यवाही करने के साथ जागरूकता फैलाना आवश्यक होता है, जागरूकता भी कैसी? क्रिटिकल जागरूकता” ये कहना है छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर के SSP आरिफ़ शेख़ का. सड़क सुरक्षा एक बड़ा मुद्दा है. और रायपुर पुलिस करीब एक साल से इसे लेकर सक्रिय है. पहले पुलिस ने हर हेड हेलमेट मुहीम चलाई. देश का पहला स्मार्ट स्टॉपिंग सिस्टम रायपुर में शुरू हुआ. चौक-चौराहों पर रेडियो के जरिये लगातार समझाइश दी जाती है. अब ‘ट्रैफिक सियान’ नाम से रायपुर पुलिस ने एक नया कैम्पेन शुरू किया है. छत्तीसगढ़ी में सियान का मतलब होता है बुज़ुर्ग या समझदार व्यक्ति. इस तरह ट्रैफिक सियान का मतलब हुआ- ट्रैफिक की जानकारी देने वाला बुजुर्ग. रायपुर के चौराहों पर इन दिनों ट्रैफिक पुलिस कर्मी ठेठ छत्तीसगढ़िया अंदाज़ में धोती-गमछा डाले दिख रहे हैं. ये ट्रैफिक रूल तोड़ने वालों को रोककर हंसी-ठिठोली में उन्हें नियम बता रहे हैं. उन्हें हेलमेट पहनने, रेड लाइट पर रुकने, स्टॉप लाइन के पीछे गाडी खड़े करने, रॉन्ग साइड में गाड़ी न चलाने जैसी छोटी-छोटी बातों पर समझाइश दे रहे हैं. रायपुर पुलिस की मानें तो अपने कैम्पेन को लोकल टच देने से लोगों में जागरूकता बढ़ी है. ऐसे में बाकी राज्य भी इस तरह के कैम्पेन चला सकते हैं, ताकि लोगों में हेलमेट पहनने, सीट बेल्ट बांधने, ट्रैफिक सिग्नल फॉलो करने को लेकर जागरूकता पैदा हो.

Show more
content-cover-image
इस शहर की ट्रैफिक पुलिस जो कर रही है उससे जनता की लाइफ बदल गईमुख्य खबरें