content-cover-image

सर्दी, खांसी, बुखार के बाद भी जरूरी नहीं कि आपका Corona के लिए टेस्ट हो!

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

सर्दी, खांसी, बुखार के बाद भी जरूरी नहीं कि आपका Corona के लिए टेस्ट हो!

चीन के वुहान से निकला कोरोना वायरस दुनियाभर में फैल चुका है. 15 मार्च तक भारत में अब तक इस वायरस के 110 एक्टिव केस हैं. 13 लोग ठीक होकर डिस्चार्ज कर दिए हैं. वहीं, दो लोगों की मौत हो चुकी है. इस वायरस को लेकर लोग सतर्कता बरत रहे हैं. सरकार भी इससे बचाव के कई उपाय कर रही है. कोरोना वायरस के लगातार बढ़ते मामलों के बीच लोग इस बात को लेकर कन्फ्यूज़ हैं कि वो कब, कहां और कैसे कोरोना वायरस का टेस्ट करा सकते हैं? भारत सरकार के इंडियन काउंसिल ऑफ़ मेडिकल रिसर्च ने इसको लेकर जानकारी दी है. इसमें बताया गया है कि किस हालत में कोई कोरोना का टेस्ट करा सकता है. ICMR ने कहा है कि फिलहाल कोरोना वायरस का कम्यूनिटी ट्रांसमिशन नहीं हो रहा है. ऐसे में कोरोना प्रभावित देशों का दौरा करने वाले लोगों को ही इसका खतरा है. विदेशों से लौटे वे लोग जिनको कोरोना वायरस इंफेक्शन होने की रिपोर्ट आ चुकी है, उनके संपर्क में आने पर जो लोग संक्रमित हुए उन्हें ही खतरा है. ऐसे में सभी को कोरोना टेस्ट की जरूरत नहीं है. नियमों के तहत अगर आप किसी ऐसे इंसान के संपर्क में आए हैं, जिसे COVID-19 होने की पुष्टि हो चुकी है. तो आपको 14 दिन तक घर में क्वारंटीन होकर रहना होगा. क्वारंटीन मतलब अलग-थलग, बाहरी लोगों से बिना संपर्क के. इस दौरान आपमें कोराना वायरस इंफेक्शन के लक्षण मिलते हैं तो आपका टेस्ट किया जाएगा. इसके लिए आपको स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के हेल्पलाइन नंबर 011-23978046 पर फोन करना होगा. आपका सैम्पल लेकर लैब टेस्ट के लिए भेज दिया जाएगा. लक्षण नहीं दिखने पर टेस्ट की कोई जरूरत नहीं है. अगर आप बीते 14 दिनों में कोरोना वायरस से प्रभावित किसी देश से लौटे हैं, तो भी आपको 14 दिन तक घर में क्वारंटीन होना होगा. इस दौरान अगर आप में कोरोना के लक्षण दिखाई देते हैं तो आपका टेस्ट किया जाएगा. और कोरोना के लक्ष्ण नहीं दिखते तो टेस्ट की जरूरत नहीं होगी. अगर आपको सर्दी-बुखार जैसे लक्षण हैं. लेकिन न आप किसी कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति के संपर्क में आए हैं और न ही किसी ऐसे देश से लौटे हैं जहां कोरोना फैला है तो टेस्ट सेंटर जाने के बाद भी आपके सैम्पल नहीं लिये जाएंगे. सरकार ने यह जानकारी भी दी है कि कोरोना के टेस्ट के लिए अभी कोई भी प्राइवेट हॉस्पिटल या प्राइवेट लैब मान्य नहीं है. भारत में 52 जगह कोरोना के टेस्ट किए जा रहे हैं.

Show more
content-cover-image
सर्दी, खांसी, बुखार के बाद भी जरूरी नहीं कि आपका Corona के लिए टेस्ट हो!मुख्य खबरें