content-cover-image

Rahul Gandhi ने सदन में Top-50 कर्ज़खोरों के नाम पूछे, सरकार ने क्या कहा?

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

Rahul Gandhi ने सदन में Top-50 कर्ज़खोरों के नाम पूछे, सरकार ने क्या कहा?

कांग्रेस नेता राहुल गांधी 16 मार्च, सोमवार को संसद में थे. राहुल बोले. राहुल ने सवाल किए. सवाल देश के अर्थ से जुड़ा था, फाइनेंशियल सेहत से जुड़ा था. लेकिन जवाब फाइनेंस मिनिस्टर निर्मला सीतारमण ने नहीं दिया, उनके डिप्टी ने दिया. संसद में राहुल गांधी ने सरकार से विलफुल डिफॉल्टर्स को लेकर सवाल किया. कहा कि सरकार उन लोगों के नाम बताए, जो देश के बैंकों से कर्ज़ लेकर अब लौटा नहीं रहे हैं. जिसकी वजह से देश की आर्थिक सेहत भी गड़बड़ा रही है. राहुल ने कहा कि देश के जो टॉप-50 विलफुल डिफॉल्टर हैं, उनके नाम सरकार बताए. साथ ही राहुल गांधी ने सरकार से ये भी पूछा कि वो देश में लगातार बढ़ रहे बैंक फ्रॉड को रोकने के लिए क्या कदम उठाए हैं? हालांकि सदन की कार्यवाही शुरू होने से पहले ही इस बात की चर्चा होने लगी थी कि राहुल सदन में विलफुल डिफॉल्टर्स का मुद्दा उठा सकते हैं. दरअसल राहुल जब सुबह अपनी गाड़ी बैठकर संसद जा रहे थे, तो उनके हाथ में एक पर्चा था. इस पर्चे में इन सवालों का ज़िक्र था और पर्चा मीडिया की नज़र में आ गया. जवाब वित्त और कॉर्पोरेट अफेयर राज्यमंत्री अनुराग ठाकुर ने दिया. ठाकुर ने जवाब में भगोड़ा आर्थिक अपराधी बिल का ज़िक्र किया. कहा कि ये बिल सरकार इस तरह के अपराधों को रोकने के लिए ही लाई है. अनुराग ठाकुर ने ये भी कहा कि सभी विलफुल डिफॉल्टर्स की लिस्ट ऑनलाइन अपडेट है. CIC की वेबसाइट पर लिस्ट देखी जा सकती है. कहा कि इस बात पर जवाब तो कांग्रेस को देना चाहिए, क्योंकि जो लोग भी लोन लेकर भागे, उनमें से ज्यादातर मामले तो कांग्रेस के सत्ता में रहने के वक्त के ही हैं. भगोड़ा आर्थ‍िक अपराधी बिल 2018 में लाया गया था. ये बिल सरकार को ये अधिकार देता है कि वह उन लोगों की प्रॉपर्टी ज़ब्त कर सके, जो किसी तरह का बैंक फ्रॉड करके विदेश भाग गए हैं. इनमें नीरव मोदी, मेहुल चौकसी जैसे लोन डिफॉल्टर्स भी शामिल हैं. इस बिल के तहत वो ही मामले उठाए जाने का प्रावधान है, जो 100 करोड़ रुपए से ज्यादा के हों. सदन से निकलने के बाद राहुल गांधी बोले- “मैंने सरकार से एक सीधा, सरल-सा सवाल किया था. लेकिन मुझे अपने सवालों का ठीक जवाब नहीं मिला. इससे ज्यादा निराश मैं इस बात से हुआ कि स्पीकर ने मुझे सेकंडरी सवाल तक करने का मौका नहीं दिया.” इसके अलावा कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी. चिदंबरम ने कोरोना वायरस से निपटने की सरकार की तैयारियों पर भी सवाल उठाए.

Show more
content-cover-image
Rahul Gandhi ने सदन में Top-50 कर्ज़खोरों के नाम पूछे, सरकार ने क्या कहा?मुख्य खबरें