content-cover-image

निर्भया केस: दोषियों के परिजनों ने राष्ट्रपति को लिखा पत्र, मांगी इच्छा मृत्यु की इजाजत

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

निर्भया केस: दोषियों के परिजनों ने राष्ट्रपति को लिखा पत्र, मांगी इच्छा मृत्यु की इजाजत

निर्भया के दोषियों को फांसी देने की तारीख अब मुकर्रर हो चुकी है। फांसी की तारीख 20 मार्च तय की गई है। इस लिहाज से दोषियों की ज़िन्दगी के महज चार दिन शेष हैं, मगर इससे पूर्व ही इस प्रकरण में नया मोड़ देखने को मिल रहा है। दरअसल, निर्भया के परिजनों ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को पत्र लिखकर इच्छा मृत्यु की गुजारिश की है। बता दें कि यह खत हिंदी में लिखा गया है। अपने इस खत में परिवारजनों ने दोषियों के पक्ष में अपने तर्क पेश किए हैं। इस खत से यह तो साफ जाहिर हो रहा है कि तमाम कानूनी विकल्पों के समाप्त होने के बाद भी परिजन घिनौने वारदात में लिप्त दोषियों को बचाने से बाज नहीं आ रहे हैं। वहीं, दोषियों को बचाने के पीछे तर्क पेश करते हुए कहा गया कि, ‘हम देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और निर्भया के माता-पिता से यह अनुरोध करते हैं कि हमें इच्छा मृत्यु की अनुमति दे दें। परिजनों ने कहा कि इच्छामृत्यु देने से किसी भी अपराध को रोका जा सकता है। और हमारे पूरे परिवार को इच्छामृत्यु दे दी जाती है तो निकट भविष्य में निर्भया जैसे अपराध को ख़त्म करने में मदद होगी। इसके साथ ही पत्र में लिखा गया है कि ऐसा कोई पाप नहीं, जिसे माफ नहीं किया जा सकता है। परिजनों ने कहा कि पहले भी देश के महापापियों को माफ किया जाता रहा है। बदले की परीभाषा शक्ति नहीं है। अब ऐसे में देखने वाली बात यह होगी कि इस पत्र को लेकर राष्ट्रपति की क्या प्रतिक्रिया रहती है।

Show more

content-cover-image
निर्भया केस: दोषियों के परिजनों ने राष्ट्रपति को लिखा पत्र, मांगी इच्छा मृत्यु की इजाजतमुख्य खबरें