content-cover-image

संक्रमण से मरने वाले बुजुर्ग को लोगों ने अपमानित किया, उन्हें अपनी ही मौत का मैसेज मिला

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

संक्रमण से मरने वाले बुजुर्ग को लोगों ने अपमानित किया, उन्हें अपनी ही मौत का मैसेज मिला

कोरोनावायरस से संक्रमित 63 साल के बुजुर्ग की मंगलवार को यहां मौत हो गई। पड़ोसियों का आरोप है कि रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद लोग उन्हें नफरत भरे मैसेज भेज रहे थे। उनके परिवार वालों से भी भेदभाव किया जा रहा था। 1 मार्च को पुणे के पति-पत्नी और उनका बेटा दुबई से मुंबई लौटा था। बाद में उन तीनों को संक्रमित पाया गया। पत्नी और बेटा अभी भी कस्तूरबा अस्पताल में भर्ती हैं। मृतक बुजुर्ग सेंट्रल मुंबई की हाउसिंग सोसायटी में रहते थे। उन्हें 13 मार्च को कोरोना पॉजिटिव पाया गया था। उनके पड़ोसियों ने बताया कि मृतक के रिश्तेदार, सोसायटी के लोग और जो उन्हें सालों से जानते थे उनके परिवार की अलोचना कर रहे थे। वे उन्हें वायरस फैलाने के लिए कोस रहे थे। एक दिन तो उन्हें अपनी ही मौत का मैसेज मिला। इससे उनके परिवार को काफी दुख हुआ। पड़ोसियों ने बताया कि जैसे ही इस परिवार के संक्रमित होने की खबर फैली सोसायटी में रोजमर्रा के कामकाज करने वालों ने आना बंद कर दिया। अफवाह के कारण व्यक्ति की बेटी और पोती को स्कूल और मोहल्ले में भेदभाव का सामना करना पड़ रहा है। बुजुर्ग का परिवार इस सोसायटी में 20 साल से रह रहा है।

Show more
content-cover-image
संक्रमण से मरने वाले बुजुर्ग को लोगों ने अपमानित किया, उन्हें अपनी ही मौत का मैसेज मिलामुख्य खबरें