content-cover-image

Lucknow में वसूली वाले पोस्टर लगे, अब 13 लोगों को ज़्यादा जुर्माना भरने को कहा गया

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

Lucknow में वसूली वाले पोस्टर लगे, अब 13 लोगों को ज़्यादा जुर्माना भरने को कहा गया

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ. यहां कुछ दिन पहले पोस्टर-पोस्टर वाला खेल खूब चर्चा में रहा. 19 दिसंबर, 2019 को एंटी-CAA प्रोटेस्ट में हिंसा हुई थी. इसमें नुकसान की भरपाई के लिए तमाम लोगों को योगी सरकार ने वसूली का नोटिस थमाया था. दिसंबर में ही. अब इनमें से 13 से कहा गया है कि एक हफ्ते में 10 फीसदी बढ़ाकर जुर्माना दो या तो जेल होगी. लखनऊ प्रशासन ने मंगलवार, 17 मार्च को 13 लोगों को ‘रिकवरी सर्टिफिकेट’ और ‘डिमांड नोटिस’ जारी किया. इन 13 लोगों का केस हसनगंज थाने के तहत आता है. ये लोग उन 57 आरोपियों में हैं, जिन्हें 1.55 करोड़ रुपए की वसूली के लिए नोटिस मिले हैं. इन 13 लोगों से 21.67 लाख रुपए भरने को कहा गया है. इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, इन 13 लोगों में ओसामा सिद्दीकी, मोहम्मद हाशिम, धर्मवीर सिंह, मोहम्मद कलीम, मोहम्मद कलीम, मुख्तार अहमद, मोहम्मद ज़ाकिर, मोहम्मद सलमान, मुबीन, वसीम, मोहम्मद शफीउद्दीन, महेनुर चौधरी और हफीज-उर-रहमान के नाम शामिल हैं. एडीएम (ट्रांस गोमती) विश्व भूषण मिश्रा ने कहा, डिमांड नोटिस में क्लॉज है कि असली जुर्माने से 10 फीसदी ज़्यादा वसूला जाएगा. 13 लोगों को एक हफ्ते का समय दिया गया था. ऐसा न करने पर उनकी कुर्की की जाएगी और जेल होगी.’ हाल ही में ये विवाद और बढ़ा था जब लखनऊ प्रशासन ने हिंसा के आरोपियों के पोस्टर शहर में जगह-जगह लगा दिए थे.

Show more

content-cover-image
Lucknow में वसूली वाले पोस्टर लगे, अब 13 लोगों को ज़्यादा जुर्माना भरने को कहा गयामुख्य खबरें