content-cover-image

क्या है ‘हलाल हैंड सैनिटाइज़र’ जिसे दुनिया के कई मुसलमान ढूंढ रहे हैं?

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

क्या है ‘हलाल हैंड सैनिटाइज़र’ जिसे दुनिया के कई मुसलमान ढूंढ रहे हैं?

कोविड-19. इससे दुनियाभर में आठ हज़ार से ज़्यादा मौतें हो चुकी हैं. भारत में तीन. वहीं देश में 166 पॉजिटिव केसेस भी सामने आ चुके हैं. कोरोना वायरस से बचने के लिए कई उपाय भी बताए जा रहे हैं. जैसे समय-समय पर साबुन से हाथ धोना. सैनिटाइज़र का इस्तेमाल करना. लेकिन ये सैनिटाइज़र दुनियाभर के मुसलमानों के लिए मुसीबत बन गया है. अब आप सोचेंगे कि भला मुसलामानों को सैनिटाइजर से क्या दिक्कत है. जवाब है उसमें मौजूद एल्कोहॉल. हाथ साफ़ करने के लिए बनने वाले सारे सैनिटाइजर्स एल्कोहॉल होता है. इसी की मदद से जर्म्स का सफ़ाया होता है. पर इस्लाम में शराब है हराम. यानी सख्ती से मना. इसलिए कई मुसलमान निकल पड़े हैं ‘हलाल हैंड सैनिटाइजर्स’ की तलाश में! मलेशिया में तो ‘हलाल हैंड सैनिटाइजर’ बिकने भी शुरू हो गए हैं. कुरआन में एक आयत है. कहा है – ‘सफ़ाई ही आधा ईमान है.’ यानी सफ़ाई पर काफ़ी जोर दिया गया है. प्रसिद्ध अखबार में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक, इस्लाम में शराब पीने पर मनाही है. पर अगर किसी दवा में शराब हो तो उसे लेने में कोई मनाही नहीं है. हैंड सैनिटाइजर काम आता है हाथ साफ़ करने के. इसे हाथों पर मला जाता है. ये हाथों पर मौजूद जर्म्स को मारता है. यानी इसके हराम या हलाल होने का कोई सवाल ही नहीं है. तो सारी बातों की एक बात. इस कोरोना वायरस के दौर में हलाल हैंड सैनिटाइजर के चक्कर में न पड़ें. ये आपकी और आपके परिवार की हेल्थ को ख़तरे में डाल देगा.

Show more
content-cover-image
क्या है ‘हलाल हैंड सैनिटाइज़र’ जिसे दुनिया के कई मुसलमान ढूंढ रहे हैं?मुख्य खबरें