content-cover-image

Corona से लड़ने में कारगर Social Distancing, 62% तक आ सकती है कमी

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

Corona से लड़ने में कारगर Social Distancing, 62% तक आ सकती है कमी

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि सामाजिक दूरी बनाकर कोरोना वायरस के संक्रमण में 62 फीसदी की कमी लाई जा सकती है. स्वास्थ्य मंत्रालय ने अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस में सोशल डिस्टेंसिंग की अहमियत को भी बताया है. ICMR के वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ रमन गंगाखेडकर ने कहा कि गणितीय मॉडल का अध्ययन किया गया है. उन्होंने कहा कि थर्मल स्क्रीनिंग से कोरोना वायरस के संक्रमण को तीन हफ्ते तक रोका जा सकता है. इसके अलावा सोशल डिस्टेंसिंग से कोविड-19 केस में 62 फीसदी की कमी लाई जा सकती है. डॉ गंगाखेडकर ने कहा कि अगर किसी में भी फ्लू के लक्षण हैं तो घर में भी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जाना चाहिए. ICMR के वैज्ञानिकों का कहना है कि अपने मन से निजी क्लीनिक में कोरोना का टेस्ट नहीं करवाना चाहिए. उन्होंने कहा कि अगर डॉक्टर आपको इसकी सलाह देते हैं तभी कोरोना का टेस्ट करवाएं. डॉ रमन गंगाखेडकर ने कहा कि आईसीएमआर के नेटवर्क में 118 लैब हैं. इन लैब में एक दिन में 12000 सैंपल टेस्ट किए जा सकते हैं. इसके अलावा 22 निजी लैब को एप्रूवल दे दिया गया है. स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि अगर किसी के अंदर कोविड-19 के लक्षण दिखते हैं तो उसके लिए दवाइयां खरीदने में जल्दबाजी न करें. स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि कोविड-19 का कोई निश्चित इलाज नहीं है. प्रतिबंधित ड्रग्स का उपयोग केवल नामित अस्पतालों द्वारा इलाज कर रहे डॉक्टर की देखरेख में और रोगी की सहमति से ही किया जा सकता है.

Show more
content-cover-image
Corona से लड़ने में कारगर Social Distancing, 62% तक आ सकती है कमीमुख्य खबरें