content-cover-image

सरकार ने बढ़ाई लैब की संख्या, अब हर दिन हो पाएंगे Coronavirus के 12 हजार टेस्ट

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

सरकार ने बढ़ाई लैब की संख्या, अब हर दिन हो पाएंगे Coronavirus के 12 हजार टेस्ट

कोरोना वायरस से निपटने के लिए सरकार स्वास्थ्य से जुड़े उपायों के अलावा रणनीतिक और कमर्शियल फैसले भी ले रही है. स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने कहा कि राज्यों को कहा गया है कि कोरोना संक्रमण के दौर में वे ई-कॉमर्स को बढ़ावा दें ताकि सामानों की होम डिलीवरी हो सके और लोगों को घर से बाहर न निकलना पड़े. इससे कोरोना के संक्रमण को रोकने में मदद मिल सकेगी. ई-कॉमर्स को बढ़ावा देने के लिए बुद्धवार गृह सचिव ने राज्यों के सचिवों के साथ बैठक की. रिपोर्ट के मुताबिक ई-कॉमर्स कंपनियों को कहा गया है कि उनकी समस्याएं जल्द से जल्द दूर कर दी जाएंगी. सरकार का कहना है कि किसी भी कीमत पर कम से कम लोगों के बीच संपर्क होना चाहिए. इस मुद्दे पर मंगलवार को स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन की अध्यक्षता में ग्रुप ऑफ मिनिस्टर्स की बैठक हुई. जीओएम की बैठक में राज्यों से कहा गया कि वे ई-कॉमर्स को बढ़ावा देने के लिए जल्द कदम उठाएं. केंद्र ने राज्यों और जिला प्रशासन से कहा है कि आवश्यक वस्तुएं, खाने-पीने की चीजें और दवा की दुकानें काम करती रहेंगी. स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि केंद्र सरकार के 118 लैब अब 12000 टेस्ट रोजाना करने को तैयार हैं. लव अग्रवाल ने कहा कि अब 29 निजी लैब अपने 16000 कलेक्शन सेंटर के साथ काम कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि ये सैंपल कलेक्शन आईसीएमआर के गाइडलाइन के मुताबिक किया जा रहा है. लव अग्रवाल ने कहा कि लोग हाइड्रो क्लोरोक्वीन नाम की दवा का इस्तेमाल कर रहे हैं. लेकिन इस दवा का साइड इफेक्ट है, हमनें किसी को भी ये दवा नहीं लेने को कहा है. बता दें कि ये दवा सिर्फ उनके लिए है जो चिकित्सा क्षेत्र से जुड़े हैं. उन्होंने लोगों से अपील की है कि वे किसी भी हालत में इस दवा को न लें.

Show more
content-cover-image
सरकार ने बढ़ाई लैब की संख्या, अब हर दिन हो पाएंगे Coronavirus के 12 हजार टेस्टमुख्य खबरें