content-cover-image

प्रेगनेंसी में काम करके भारत की पहली Corona Test Kit बनाई, कौन हैं Minal Bhosale?

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

प्रेगनेंसी में काम करके भारत की पहली Corona Test Kit बनाई, कौन हैं Minal Bhosale?

कोरोना वायरस के मामले सामने आने के बाद से भारत की आलोचना हो रही थी. वजह थी कोरोना के काफी कम टेस्ट करना. लेकिन पिछले सप्ताह सरकार ने पुणे की एक लेबोरेटरी माय लैब डिस्कवरी को मेड इन इंडिया टेस्टिंग किट बनाने की परमिशन दे दी. इसके बाद उम्मीदें जगी. किट बनाने में एक महिला वायरोलॉजिस्ट ने बड़ी भुमिका निभाई. इनका नाम है मीनल दाखवे भोसले. वह माय लैब की रिसर्च एंड डेवलपमेंट की हेड हैं. टेस्टिंग किट के लिए काम करते समय मीनल प्रेगनेंट थीं. डिलीवरी से कुछ घंटे पहले तक काम करती रहीं. उन्होंने 19 मार्च को बेटी को जन्म दिया. मीनल ने बताया कि ऐसी किट को तैयार करने में तीन से चार महीने लगते हैं. लेकिन उनकी टीम ने छह सप्ताह यानी लगभग डेढ़ महीने में इसे तैयार कर दिया. बेटी को जन्म देने से एक दिन पहले यानी 18 मार्च को उन्होंने किट को नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी को भेजा. इसके बाद फ़ूड एंड ड्रग्स कंट्रोल अथॉरिटी के पास भेजा ताकि इसे बाजार में उतारने की परमिशन मिल जाए. मीनल कहती हैं कि ऐसा लग रहा था जैसे दो बच्चों को जन्म दिया है. उन्होंने कहा कि इस दौरान काफी चुनौतियां भी आईं. बता दें कि मायलैब ने 26 मार्च को कोरोना वायरस की पहली टेस्टिंग किट बाजार में उतार दी. इसका नाम Patho Detect है. इस किट से कोरोना होने या न होने का पता ढाई घंटे में चल जाएगा. अभी तक रिजल्ट पता करने में आठ घंटे लगते हैं.

Show more
content-cover-image
प्रेगनेंसी में काम करके भारत की पहली Corona Test Kit बनाई, कौन हैं Minal Bhosale?मुख्य खबरें