content-cover-image

आज की मुस्कान: इन नन्हें खिलाड़ियों ने कोरोना से लड़ने के लिए की शानदार पहल

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

आज की मुस्कान: इन नन्हें खिलाड़ियों ने कोरोना से लड़ने के लिए की शानदार पहल

स्वागत है आपका मुख्य खबर की ख़ास पेशकश में, और कोरोना के खिलाफ जंग में एक और पॉज़ीटिव स्टोरी आई है. 15 या 16 साल की उम्र में कई लोगों को पता भी नहीं होता कि भविष्य में वो क्या करने वाले हैं. लेकिन 16 की उम्र में वर्ल्डकप खेल चुकीं रिचा घोष ने पश्चिम बंगाल सीएम रिलीफ फंड में एक लाख रुपये डोनेट किये हैं. वहीं, 15 साल की प्लेयर इशा सिंह ने भी 30 हज़ार रुपये पीएम रिलीफ फंड में दान किये हैं. इतनी कम उम्र में पीएम रिलीफ फंड में डोनेट करने वाली वह पहली खिलाड़ी बन गई हैं. बंगाल क्रिकेट एसोसिएशन की तरफ से यह जानकारी दी गई. रिचा के पिता मनबेंद्र घोष ने सिलीगुड़ी के डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट सुमंता सहाय के घर पर जाकर ये चेक दिया. रिचा ने इस सहयोग पर कहा, ”जब हर कोई कोविड-19 के खिलाफ जंग लड़ रहा है. चीफ मिनिस्टर ने सभी से इसमें एक साथ आने की बात कही है. ऐसे में मैंने भी देश की एक ज़िम्मेदार नागरिक होने के नाते कुछ सहयोग करने का फैसला लिया है.” रिचा ने साल 2020 में वुमेन्स टी20 विश्वकप से ठीक पहले ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज़ में अपना डेब्यू किया था. वुमेन्स टीम में शेफाली और रिचा दोनों ही 16 साल की सबसे कम उम्र की खिलाड़ी थीं. रिचा के अलावा इशा सिंह ने ज़रूरमंद लोगों के लिए अपने डोनेशन दिया है. उन्होंने ट्विटर पर ट्वीट करके इसकी जानकारी दी. इशा की इस पहल को सोशल मीडिया पर खूब सराहना मिल रही है. क्योंकि इशा सिर्फ 15 साल की हैं और वो कोरोना वायरस की इस जंग में सबसे कम उम्र में सहयोग देने वाली स्पोर्ट्सपर्सन भी बन गई हैं. है ना सराहनीय ? ऐसी ही कुछ दिल खुश करने वाली और चेहरे पर मुस्कान ले आने वाली कहानियों,किस्सों और ख़बरों के लिए हमसे जुड़े हर सुबह ठीक 6 बजे.

Show more
content-cover-image
आज की मुस्कान: इन नन्हें खिलाड़ियों ने कोरोना से लड़ने के लिए की शानदार पहलमुख्य खबरें