content-cover-image

निजामुद्दीन मरकज गए 6 की मौत, करवाया गया खाली

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

निजामुद्दीन मरकज गए 6 की मौत, करवाया गया खाली

दिल्ली के निजामुद्दीन में तबलीगी जमात के मरकज में कोरोना का मामला सामने आने के बाद हड़कंप मच गया है. जानकारी के मुताबिक निजामुद्दीन मरकज से आज तड़के 860 लोगों को निकालकर अलग-अलग अस्पतालों में पहुंचाया गया है. कुल मिलाकर इस मरकज में लगभग 1400 सौ लोग ठहरे हुए थे, सभी को इस मरकज से निकाल दिया गया है, ये सभी लोग एक धार्मिक समारोह में भाग लेने यहां आए हुए थे. दुनिया भर में मशहूर और दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में स्थित तबलीगी मरकज में पहुंचे 6 लोगों की मौत तेलंगाना में हो गई है. ये जानकारी तेलंगाना सीएम ऑफिस ने दी है. सीएम ऑफिस के हवाले से कहा गया है कि मरकज गए कुछ लोगों में कोविड-19 का संक्रमण हुआ है. इसके साथ ही मरकज में हिस्सा लेने वाले 200 लोगों को दिल्ली के अस्पतालों में भर्ती किया गया है. इससे पहले मरकज में गए दो बुजुर्गों की मौत हो चुकी है. उत्तर प्रदेश पुलिस मुख्यालय ने 18 जिलों के सीनियर पुलिस अधिकारियों को एक आदेश जारी किया है कि वे दिल्ली के निजामुद्दीन में एक धार्मिक सभा में भाग लेने वाले लोगों के लिए तुरंत COVID19 टेस्ट करवाने की व्यवस्था करें. और उन लोगों को अस्पताल में भर्ती कराएं, जिनका टेस्ट पॉजिटिव आए. इस बीच जो लोग निजामुद्दीन इलाके से बसों में सवार हुए थे, उन्हें दिल्ली के लोक नायक जयप्रकाश अस्पताल में जांच के लिए ले जाया गया. तबलीगी मरकज पहुंचे जिन दोनों बुजुर्गों की मौत हुई है, उनमें एक तमिलनाडु और दूसरा कश्मीर घाटी का रहने वाला था. एक की मौत की वजह हार्ट अटैक, जबकि दूसरे की मौत की वजह कोरोना का सदमा बताया जाता है, अस्पतालों में दाखिल लोगों में से छह के कोरोना पॉजिटिव की कथित रिपोर्ट है. हालांकि तबलीगी मरकज के प्रवक्ता ने इस खबर की फिलहाल पुष्टि नहीं की है. जो लोग अस्पतालों में दाखिल किए गए हैं, वे भी सब के सब 60 से ऊपर की ही उम्र वाले हैं. मरकज में आए जिस शख्स की मौत सोमवार को हुई थी, अब उसके परिवार को एकांतवास में रखा गया है, इसके साथ ही तेलंगाना और तमिलनाडु में निजामुद्दीन के मरकज से गए लोगों की तलाश जारी है. इस लापरवाही को लेकर तब्लीगी जमात के सेंटर के मौलाना के खिलाफ केजरीवाल सरकार ने एफआईआर दर्ज कराने का फैसला किया है. हालांकि, मरकज की तरफ से मौलाना यूसुफ ने सफाई दी है कि लॉकडाउन लागू होने से पहले ही वहां पर देशी विदेशी गेस्ट ठहरे हुए थे. लिहाजा उन्होंने सरकार के आदेश का पालन किया कि जो जहां है वहीं ठहरे.

Show more
content-cover-image
निजामुद्दीन मरकज गए 6 की मौत, करवाया गया खाली मुख्य खबरें