content-cover-image

UP के 18 जिले में अलर्ट, दौरे स्थगित कर आनन-फानन में Lucknow लौटे CM

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

UP के 18 जिले में अलर्ट, दौरे स्थगित कर आनन-फानन में Lucknow लौटे CM

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गाजियाबाद का दौरा बीच में छोड़कर तब्लीगी जमात के मरकज के मद्देनजर अधिकारियों के साथ उच्चस्तरीय बैठक करने के लिए लखनऊ लौट रहे हैं, जिसने कोरोना मामले को बढ़ावा दे दिया है. अतिरिक्त मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी के मुताबिक सीएम इस महीने की शुरुआत में जमात की मरकज में भाग लेने वालों को क्वारंटीन करने के लिए किए जा रहे उपायों की समीक्षा करेंगे.दिल्ली के निजामुद्दीन में 13 मार्च से 15 मार्च तक लगभग 2000 लोगों की धार्मिक बैठक तब्लीगी जमात में शामिल हुए लोगों की जानकारी मिलने के बाद उत्तर प्रदेश के अठारह जिलों को हाई अलर्ट पर रखा गया है. इसके चलते गाजियाबाद, मेरठ, सहारनपुर, मुजफ्फरनगर, शामली, हापुड़, बिजनौर, बागपत, वाराणसी, भदोही, मथुरा, आगरा, सीतापुर, बाराबंकी, प्रयागराज, बहराइच, गोंडा और बलरामपुर जिलों में खासी सतर्कता बरती जा रही है. राज्य सरकार को तब्लीगी जमात में भाग लेने वालों की एक सूची मिली है. इस बैठक में भाग लेने वाले लगभग 250 सदस्यों में कोरोनावायरस के प्रारंभिक लक्षण दिखे हैं. इस बीच, सुन्नी धर्मगुरु मौलाना खालिद रशीद फिरंगी महाली ने एक वीडियो संदेश में कहा कि तब्लीगी जमात एक धार्मिक संगठन है, लेकिन इसे सरकार द्वारा घोषित सुरक्षा प्रोटोकॉल का पालन करना चाहिए था, उन्होंने कहा कि मामले में जिम्मेदारी तय करने के लिए घटना की जांच होनी चाहिए. शिया वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष वसीम रिजवी ने कहा कि कुछ कट्टरपंथी मुस्लिम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कोरोना वायरस को नियंत्रित करने के प्रयासों को कमजोर करने की कोशिश कर रहे है. उन्होंने कहा कि अगर इसके कारण कोई मौत हुई, तो इसके लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए.

Show more
content-cover-image
UP के 18 जिले में अलर्ट, दौरे स्थगित कर आनन-फानन में Lucknow लौटे CM मुख्य खबरें